देशभर में रविवार को आयोजित नेशनल एलीजिबिलिटी एंट्रेस टेस्ट (नीट) की परीक्षा का पेपर बेचने के आरोप में जयपुर, दिल्ली और बिहार से गिरोह के पांच लोगों को ATS राजस्थान ने पकड़ा है। एटीएस राजस्थान को शनिवार को ही सूचना मिली कि दिल्ली, बिहार और राजस्थान में नीट का पेपर बेचने वाला गिरोह सक्रिय है। जो अभ्यार्थियों को पांच—पांच लाख रुपए में पेपर बेच रहा है। एटीएस के एसपी विकास कुमार के निर्देशन में विभिन्न टीमों ने जयपुर, दिल्ली और बिहार में एकसाथ छापेमारी की। एटीएस की कारवाई में नई दिल्ली से विक्रम सिन्हा और उसके भाई विकास कुमार सिन्हा, जयपुर के मुरलीपुरा निवासी एवं पशुपालन विभाग के कर्मचारी भूपेंद्र कुमार शर्मा, फरीदाबाद निवासी अशोक गुप्ता और लाजपत नगर, नई दिल्ली निवासी दिशांक मलिक को गिरफ्तार किये गये। इनके साथ ही करीब छह लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। प्रारंभिक तौर पर यह दावा किया जा रहा है कि आरोपी जो पेपर बेच रहे थे वे असली नहीं था। गिरोह के सदस्य फर्जी पेपर बनाकर अभ्यार्थियों के साथ ठगी कर रहे थे। इस बारे में आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि इन पेपरों को कल रात ही कुछ जगह सॉल्व भी करवाया गया है।
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published.