वीडियोकॉन लोन मामले में CBI ने ICICI बैंक की पूर्व CEO और MD चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन समूह के वेणुगोपाल धूत के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी किया है. इसके बाद अब ये तीनों देश छोड़ बाहर नहीं जा सकेंगे.
CBI ने शुरूआती जांच के बाद ही पिछले साल दीपक कोचर और वेणुगोपाल धूत के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी कर दिया था, इन दोनों के खिलाफ लुक आउट नोटिस को पुनः रिवाइव किया गया है. दूसरी ओर CBI की ताजा FIR में चंदा कोचर का नाम शामिल होने के बाद उनका नाम भी शामिल कर दिया गया है. CBI ने चंदा कोचर के खिलाफ FIR दर्ज करने के बाद वीडियोकॉन के ऑफिस सहित मुंबई और औरंगाबाद के कुछ ठिकानों पर CBI ने छापा भी मारा था. प्रवर्तन निदेशालय (ED) मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भी इनके खिलाफ केस दर्ज कर चुका है.
चंदा कोचर ने ICICI बैंक के CMD पद से 4 अक्टूबर 2018 को इस्तीफा दे दिया था. बैंक के बोर्ड ने समयपूर्व पद छोड़ने की उनके आवेदन को स्वीकार करते हुए उनकी जगह संदीप बख्शी को MD और CEO नियुक्त किया था. यह पूरा मामला तब विवादों में आया जब ICICI बैंक और वीडियोकॉन के शेयर होल्डर अरविंद गुप्ता ने वीडियोकॉन के अध्यक्ष वेणुगोपाल धूत और ICICI की CEO और MD चंदा कोचर पर एक-दूसरे को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया.
उन्होंने इन दोनों के खिलाफ PM, RBI और सेबी को खत लिखकर पूरे मामले की जानकारी देते हुए दावा किया कि वेणुगोपाल धूत की कंपनी वीडियोकॉन को ICICI बैंक से 3250 करोड़ रुपये का लोन दिया गया और इसके बदले धूत ने चंदा के पति दीपक कोचर की वैकल्पिक ऊर्जा कंपनी ‘नूपावर’ में अपना पैसा निवेश किया. साथ ही दीपक कोचर समेत उनके परिवार के सदस्यों को भी कर्ज पाने के एवज में वित्तीय फायदा पहुंचाया गया. वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज को नियमों के मुताबिक कर्ज नहीं दिया गया था और ये NPA हो गये फलस्वरूप बैंक को 1,730 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ. जस्टिस बी एन श्रीकृष्णा समिति ने अपनी जांच में वीडियोकोन को कर्ज देने के मामले में चंदा कोचर को आचार संहिता का उल्लंघन किए जाने का दोषी पाया था.
लुक आउट नोटिस जारी होने के बाद आरोपी के देश से बाहर निकलने के सारे रस्ते बंद हो जाते हैं. अगर कोई आरोपी देश से बाहर निकलने की कोशिश करे तो अधिकारी उसे हिरासत में ले सकते हैं. ज्ञात है कि 2016 में लुकआउट नोटिस में ढिलाई बरते जाने की वजह से ही शराब कारोबारी विजय माल्या बैंकों का करीब 9,000 करोड़ रुपया लेकर देश से भागने में सफल हुआ था.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *