ईरान के पड़ोस में बसे एक छोटे से मुस्लिम देश अजरबैजान के एक मंदिर में माता रानी की अखण्ड ज्योत सदियों से जल रही है। अजरबैजान की 97.4% आबादी मुस्लिम है, जबकि 1.1% ईसाई और शेष लोग बाकी सभी धर्मों से हैं। लेकिन इस देश में माता रानी के एक सदियों पुराने मंदिर में हजारों सालों से अग्नि कुण्ड में निरन्तर अग्नि जल रही हैं। इस मंदिर को यहां आतिशगाह अथवा टेंपल ऑफ फायर के नाम से भी जाना जाता है। इस नाम के पीछे कारण है कि वहाँ हजारों सालों से अग्नि कुण्ड में निरन्तर अग्नि जल रही हैं। इसको साक्षात माता का स्वरूप माना जाता है। यह मंदिर वास्तुकला का भी अद्भूत उदाहरण है। मंदिर में एक प्राचीन त्रिशूल भी स्थापित है। पुराने समय में यहाँ आने वाले सभी कारोबारी सफर के दौरान यहाँ आने या यहाँ से गुजरने पर यहां मत्था जरूर टेकते थे। जानकारों के अनुसार मंदिर के निर्माता का नाम बुद्धदेव था। जो हरियाणा में मादजा गांव के निवासी थे, यह गाँव कुरुक्षेत्र के निकट स्थित है। बताया जाता है कि यहां पर बनी कोठरियों में लोग पहले विश्राम भी किया करते थे।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published.