UP के CM योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में दिए अपने पहले भाषण में कहा कि सदन को चर्चा का मंच बनाना है। हम 22 करोड़ जनता के बारे में सोचकर काम करेंगे और हमें विपक्षी दलों का सहयोग चाहिए।

योगी ने कहा कि चुनाव में हम एक दूसरे के खिलाफ लड़कर आये हैं। लेकिन सदन के अंदर हमें प्रदेश की 22 करोड़ जनता के हित में काम करना होगा जिसके लिए उसने हमें यहां चुनकर भेजा है। इसके लिए हम सबको मिलकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीदों पर खरा उतरना है और हमारा लक्ष्य एक होना चाहिए। हमारा लक्ष्य इसे आदर्श विधानसभा बनाना है। योगी ने यह भी कहा कि 22 करोड़ जनता के बारे में काम करने के लिए विपक्षी दलों का भी सहयोग चाहिए।




भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता हृदय नारायण दीक्षित के गुरुवार को सर्वसम्मति से UPकी 17वीं विधानसभा के अध्यक्ष चुने जाने पर मुख्यमंत्री ने बधाई देते हुए दीक्षित की प्रशंसा की। उन्होंने दीक्षित के लेखन की सराहना करते हुए उसे प्रेरणादायक बतायाl दीक्षित अभी तक भाजपा के प्रदेश में मुख्य प्रवक्ता थे, दीक्षित ने उन्नाव की भगवंतनगर सीट से चुनाव जीता है। पांच बार विधायक और विधान परिषद सदस्य रह चुके दीक्षित पिछली सरकारों में मंत्री भी रह चुके हैं। उन्हें संसदीय मामलों का बेहतर जानकार माना जाता है।

योगी ने कहा कि सदन को चर्चा का मंच बनाना है और UP को नंबर एक राज्य बनाना हैl साथ ही यह विश्वास भी दिलाया कि उनकी सरकार विपक्ष के साथ कोई भेदभाव नहीं करेगी, लोकतंत्र में किसी को भी भेदभाव महसूस नहीं होना चाहिएl सत्ता पक्ष और विपक्ष लोकतंत्र के दो महत्वपूर्ण स्तंभ हैंl दोनों मिलकर एक साथ कार्य कर सकें। हम सभी का लक्ष्य एक ही होना चाहिए, जनता की समस्या का समाधानl योगी ने कहा कि प्रदेश की जनता ने विकास के लिए हमें मौका दिया है, ऐसे में हमें इस मौके का फायदा उठाना चाहिएl विकास दर और उत्तर प्रदेश के आम जन की समस्या को देखा जाए तो हम अभी बहुत पीछे हैंl



loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *