घाटी को आतंक से मुक्त करने के लिए सुरक्षा बलों ने आतंकवादी संगठनों के टॉप कमांडरों की लिस्ट बनायी है. फिलहाल रियाज नाइकू, सद्दाम पद्दार, शौकत अहमद टॉक, वासिम अहमद, जाकिर राशिद भट्ट और जीनत उल इसलाम सहित 12 खूंखार आतंकवादियों की सूची बनायी गयी है.
सुरक्षा बलों का मानना है कि यदि इन 12 कमांडरों का सफाया हो जाये, तो आतंकवादियों की कमर टूट जायेगी. फिलहाल घाटी में हिजबुल मुजाहिद्दीन, लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के करीब 200 आतंकवादी सक्रिय हैं. सुरक्षा बलों ने इस साल अब तक 56 आतंकियों को मार गिराया है. इससे पहले वर्ष 2016 में सुरक्षा बलों ने 141 आतंकवादियों को मार गिराया था.
सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की जो हिट लिस्ट तैयार की है, उसमें पहले नंबर पर लश्कर-ए-तैयबा का अबु दुजाना है. पाकिस्तान का रहनेवाला यह खूंखार आतंकवादी दक्षिण कश्मीर में लश्कर का डिवीजनल कमांडर है. यह ए++ कैटेगरी का आतंकवादी है. अबु दुजाना तुरंत अपनी रणनीति बदल कर सुरक्षा बलों को चकमा देकर भागने में माहिर है. कश्मीर में 2014 से सक्रिय दुजाना कई बार सुरक्षा बलों को चकमा देकर भाग चुका है. उस पर सरकार ने 15 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा है.

हिज्बुल मुजाहिदीन का रियाज नाइकू उर्फ जुबैर दूसरे नंबर का सबसे खूंखार आतंकवादी है. अवंतीपुरा का रहनेवाला यह आतंकवादी पहले हिजबुल मुजाहिदीन का पुलवामा का डिस्ट्रिक्ट कमांडर था. अब वह घाटी में हिजबुल कमांडर का प्रमुख बन गया है. हिजबुल चीफ सबजार के मारे जाने के बाद उसे संगठन की कमान सौंपी गयी है. वर्ष 2012 में आतंकवादी बना नाइकू भी ए++ कैटेगरी का आतंकी है.
हिजबुल मुजाहिदीन के डिवीजनल कमांडर जाकिर राशिद भट्ट उर्फ मूसा का भी खौफ कम नहीं है. मूसा दक्षिण कश्मीर के अवंतीपुरा का रहनेवाला है जिसने हाल ही में हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेताओं के सिर काटने की धमकी दी थी. वर्ष 2013 से हिजबुल में ए++ कैटेगरी का आतंकी मूसा सक्रिय है. सबजार के मारे जाने के बाद रियाज नाइकू को हिजबुल की कमान सौंपे जाने की वजह से फिलहाल वह संगठन से नाराज चल रहा है.
हिज्बुल मुजाहिदीन के शोपियां का कमांडर सद्दाम पद्दार उर्फ जैद भी ए++ कैटेगरी का आतंकी है. पिछले साल मारे गये हिजबुल आतंकवादी बुरहान वानी का यह करीबी साथी है. दो साल पहले आतंकी बना और काफी कम समय में ही इसने इलाके में काफी दहशत फैला रखी है.

हिजबुल मुजाहिदीन के कुलगाम इलाके का डिस्ट्रिक्ट कमांडर अल्ताफ अहमद डार उर्फ काचूरु भी ए++ कैटेगरी का आतंकी है. यह सन् 2006 से इलाके में सक्रिय है. हिजबुल मुजाहिदीन का बडगाम डिस्ट्रिक्ट कमांडर मोहम्मद यासीन इट्टू उर्फ मंसूर ए कैटेगरी का आतंकी है. 2015 में आतंकी बना इट्टू बडगाम के ही चाद्दूरा का रहनेवाला है.
खूंखार आतंकवादियों की सूची में अबु हमास का भी नाम शामिल है. जैश-ए-मोहम्मद का यह आतंकवादी पाकिस्तान का रहनेवाला है. वर्ष 2016 में जैश में भरती हुआ था. वर्तमान में वह जैश का डिवीजनल कमांडर है. इसे भी ए++ कैटेगरी में रखा गया है.
लश्कर का डिस्ट्रिक्ट कमांडर शौकत अहमद टॉक उर्फ हुजैफा अवंतीपुरा के पंजगाम का रहनेवाला है. यह भी ए++ कैटेगरी का आतंकी है, जो आतंकवाद की दुनिया में वर्ष 2011 से सक्रिय है. लश्कर-ए-तैय्यबा का ही बशीर अहमद वानी उर्फ लश्कर अनंतनाग का डिस्ट्रिक्ट कमांडर 2015 से सक्रिय है. ए++ कैटेगरी का यह आतंकवादी कोकरनाग का रहनेवाला है.
शोपियां का ही रहनेवाला लश्कर का ही वासिम अहमद उर्फ ओसामा शोपियां में लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर है. 2014 से आतंक की दुनिया में सक्रिय ए++ कैटेगरी का यह खूंखार आतंकवादी बुरहान वानी के ग्रुप में था.
2015 से सक्रिय जीनत उल इसलाम उर्फ अल्कामा लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी है. जो शोपियां के सौगाम जानीपुरा का रहनेवाला है. जुनैद अहमद मट्टू उर्फ कांडरु लश्कर का डिस्ट्रिक्ट कमांडर है. 2015 में आतंकी बना कुलगाम का रहनेवाले कांडरु ए कैटेगरी का आतंकी है.

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…

Loading…





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *