केरल के कन्नूर ज़िले के एक गांव में NEET प्रवेश परीक्षा में निरीक्षण के दौरान छात्राओं से बदसलूक़ी का बेहद शर्मनाक मामला सामने आया है. परीक्षा के दौरान छात्राओं से उनके इनर वियर उतरवाए गए.
देश भर में ग्रेजुएशन स्तर के मेडिकल पाठ्यक्रमों में दाख़िले के लिए यह परीक्षा सीबीएसई की ओर से करवाई जाती है. छात्राओं के मुताबिक, जांच के दौरान स्टील बकल की वजह से मेटल डिटेक्टर से बीप की आवाज़ आई तो अधिकारियों ने उनसे इनरवियर उतारने को कहा. अधिकारियों ने स्टील बकल वाले इनरवियर बदलकर आने को भी कहा, जबकि NEET के निर्देशों में कहीं भी इसका ज़िक्र नहीं है.
इनरवियर बदलने के लिए छात्राओं ने अधिकारियों से टॉयलेट के इस्तेमाल की इजाज़त मांगी लेकिन मना कर दिया गया. हॉल में जाने के लिए छात्राओं के पास सिर्फ 10 मिनट समय बचा था, क्योंकि तब 9 बजकर 20 मिनट हो रहे थे. आसपास कोई घर भी नहीं था, हाँलाकि वहां सिर्फ महिला निरीक्षक और स्टाफ़ ही मौजूद थे तो छात्राओं ने वहीं पर इनरवियर बदला. एक छात्रा के अनुसार उसने परीक्षा के लिए साल भर तैयारी की थीं, लेकिन इस घटना ने उसके आत्मविश्वास को हिला कर रख दिया. ख़बरें हैं कि कई लड़कियां मौक़े पर रोने लगीं.
छात्राओं के परिजनों में इसे लेकर काफी आक्रोश है, उन्होंने आरोप लगाए कि स्कूल प्रशासन ने परीक्षा हॉल के प्रवेश द्वार पर ही छात्राओं को इनरवियर उतारने पर मजबूर किया. एक अभिभावक वीआर नायर का दावा है कि वह इस घटना के गवाह हैं. उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से उन लोगों की कॉमन सेंस की कमी है, जिन्हें परीक्षा संचालन का काम दिया गया था. किसी छात्र-छात्रा के साथ आइंदा कभी यह नहीं होना चाहिए
ज़िला प्रशासन ने भी इस घटना को माना है लेकिन उसका कहना है कि इस बारे में अब तक कोई औपचारिक शिकायत नहीं मिली है. कन्नूर के ज़िलाधिकारी मीर मोहम्मद अली के अनुसार अगर अभिभावक या छात्राएं एक विस्तृत शिकायत लिखित दें तो हमें पूछताछ शुरू करने में आसानी होगी.
घटना के बाद केरल का राजनैतिक माहौल भी गरमा गया है. केरल की कई महिला संगठनों ने इस घटना पर क्षोभ व्यक्त करते हुए स्कूल प्रशासन और वहाँ उपस्थित अधिकारियों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की मांग सरकार से की है. रविवार को देश के लगभग 104 शहरों में सीबीएसई ने नीट की परीक्षा आयोजित की थी, जिसमें लगभग 11 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे.

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *