बिहार के कुल 2 लाख करोड़ के बजट में 34,800 करोड़ लगभग 17.5% शिक्षा पर खर्च होगा. इसमें उच्च शिक्षा पर 5,253 करोड़ और प्राथमिक शिक्षा पर 23,528 करोड़ रुपये खर्च का प्रावधान है. विश्वविद्यालय शिक्षकों के लिए 7 वें वेतन आयोग की अनुशंसा लागू करने का निर्णय लिया गया है, जिससे राज्य सरकार पर प्रतिवर्ष 436 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा, साथ ही दो साल के बकाये मद में शिक्षकों व शिक्षकेत्तर कर्मियों को कुल 862 करोड़ का भुगतान किया जाने वाला है.
आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय में आयोजित ‘भवन व परिसर के उद्घाटन’ समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इसके अलावे कहा कि विश्वविद्यालय सेवा आयोग के निर्देशानुसार सेवानिवृत्त शिक्षकों को भी 7 वें वेतन आयोग की अनुशंसा का लाभ दिया जायेगा. राज्य कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ही अब विश्वविद्यालयों व कॉलेजों के लिए गैरशैक्षणिक कर्मियों की नियुक्ति कराई जायेगी.
उन्होंने कहा कि अब तक दुनिया के नोबल पुरस्कार विजेताओं में भारतीय मूल की 12 हस्तियां हैं, जिनमें मात्र 5 ही भारतीय नागरिक हैं. इंग्लैंड और अमेरिकी विश्वविद्यालयों के ही सर्वाधिक नोबल विजेता हैं. आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय को शोध केन्द्र के रूप में विकसित करने पर जोर देते हुए सुमो ने कहा कि हमारे भी विश्वविद्यालय शोध के केन्द्र बनें, इसके लिए भारत सरकार लगातार प्रयासरत है.
सुशील मोदी ने आज ट्वीट किया कि- ‘जिन लोगों ने फर्जी कंपनियों के जरिये 26 साल की उम्र 26 से ज्यादा बहुमूल्य सम्पत्ति बना ली और अपने कब्जे वाले बंगले की शानदार सजावट करने पर गरीब जनता की कमाई के पांच करोड़ खर्च करने में भी कोई संकोच नहीं किया, उन्हें उनकी पार्टी के लोग केवल इसलिए महान त्यागी के रूप में प्रस्तुत कर रहे हैं कि उन्होंने बंगले में लगे कीमती सामान उखाड़ ले जाने की गलती नहीं की. राजद के लोग त्याग की नई परिभाषा गढ़ रहे हैं.
सुशील मोदी ने एक अन्य ट्वीट किया कि- ‘44 जवानों की शहादत लेने वाले भीषण पुलवामा आतंकी हमले के सप्ताह भर भी नहीं बीते कि कांग्रेस के नेता पाकिस्तान की बोली बोलने लगे हैं. एकजुटता के सारे वादे भूल कर सुरक्षा में चूक और कश्मीरियों पर कथित ज्यादती की बातों को तूल देने की राजनीति की जा रही है. कांग्रेस के नेता प्रधानमंत्री पर टिप्पणी कर मर्यादाएं तोड़ रहे हैं.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *