उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने 100 दिनों के अपने एक्शन प्लान पर अंतिम मुहर लगा दी हैl भूमाफिया से लेकर सरकारी योजनाओं में सेंधमारी करने वाले सभी सरकार के निशाने पर हैंl साथ ही अल्पसंख्यक समुदाय की गरीब लड़कियों का सामूहिक विवाह आयोजित करना और हर लड़की को 20 हजार रूपये की आर्थिक सहायता देना भी एजेंडे में शामिल है। सत्ता संभालने के साथ ही सरकार के हर विभाग में लगी जंग छुड़ाने की जो कवायद शुरू हुयी है उसने मूर्तरूप ले लिया है और 100 दिन के भीतर लागू करने का एक्शन प्लान तैयार हो गया हैl सरकारी जमीनों की पहचान और छुड़ाने के लिए भू-माफिया पर टास्क फोर्स का तीन स्तरीय गठन होगा, एक्शन प्लान के तहत जिला स्तर पर टास्क फोर्स के प्रमुख डीएम और मंडल स्तर पर टास्क फोर्स की कमान कमिश्नर के हाथ में होगीl जबकि मुख्य सचिव पूरे प्रदेश में टास्क फोर्स का नेतृत्व करेंगेl राशन कार्ड को आधार नंबर से लिंक करके फर्जी कार्ड धारकों की पहचान होगी तथा गलत तरीके से सस्ता राशन लेने वालों से अभी तक लिए गए राशन की कीमत वसूली जाएगीl इसके अलावा तमाम जनकल्याणकारी योजनाओं को भी आधार से लिंक किया जायेगा ताकि भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सकेl मुस्लिम छात्रो के भविष्य के लिए मदरसों के आधुनिकीकरण के तहत 19 हजार 213 मदरसो के पाठ्यक्रम में हिंदी अंग्रेज़ी गणित और विज्ञान शामिल किया जायेगा, मदरसे में पढ़ने वाले 6 लाख 87 हजार 728 छात्रों को मिलने वाली छात्रवृत्ति को आधार से जोड़कर बैंक खाते में छात्रवृत्ति डाला जायेगाl एक्शन प्लान के तहत जिनके पास गैस चूल्हा है उन्हें केरोसिन नहीं मिलेगा, सभी भूमिहीन किसानों के 2 बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति मिलेगी, जुलाई में शुरू होने वाली हज यात्रा के लिए बेहतर सुविधायें उपलब्ध करायी जायेंगी तथा तीन तलाक के मामले में अदालत में मजबूती से पक्ष रखने के लिए कमेटी का गठन किया जायेगाl प्रदेश के अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री मोहसिन रजा के अनुसार मुख्यमंत्री ने अल्पसंख्यक समुदाय की गरीब लड़कियों के सामूहिक विवाह आयोजित करने को भी 100 दिवसीय एक्शन प्लान में शामिल किया है। उनके अनुसार हर लड़की को 20 हजार रूपये की आर्थिक सहायता देने के अलावा सरकार सामूहिक विवाह में होने वाले अन्य खर्च भी वहन करेगी। इसमें मुस्लिम समुदाय के अलावा सिख और ईसाई जैसे अन्य अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियां भी शामिल हैं। पहले इसे पायलट परियोजना के रूप में चलाया जाएगा, अच्छे परिणाम रहे तो इसे आगे बढ़ायेंगे। शादी पूरे इस्लामी रीति रिवाज से सामूहिक तौर पर एक कार्यक्रम में होगी। 100 दिनों के इस एक्शन प्लान को कड़ाई से लागू करने के लिए योगी आदित्यनाथ अपने मनपसंद अधिकारियों की टीम भी तैयार कर चुके हैंl
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published.