प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ के जरिए 32वीं बार देश को संबोधित करते हुए मुस्लिम भाइयों के शुरू हुए रमजान के महीने की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रमजान का पवित्र महीना शांति और एकता को बढ़ावा देने में सहायक होगा।
देश के सभी धर्मों के सम्मान की बात करते हुए PM ने कहा कि कई विरोधी मन की बात को एक तरफा और राजनीतिक प्रचार के रूप में देखते हैं। उन्होंने कहा कि आज इसकी लोकप्रियता इस कदर बढ़ी है कि लोग इसका हिस्सा बनने लगे हैं। PM ने कहा कि इससे हिंदुस्तान का हर परिवार जुड़ चुका है और मैं महसूस करता हूं कि देश के हर परिवार का सदस्य बन गया हूं।
मोदी ने 21 जून को मनाए जाने वाले विश्व योग दिवस का जिक्र करते हुए कहा कि विश्व योग दिवस की वजह से आज दुनिया के लिए 21 जून का दिन खास हो गया है। हमारे जीवन में अहम भूमिका निभाने वाले योग ने विश्व को एक सूत्र में जोड़ दिया है। यह वैश्विक अभियान, हमारा स्वयं का भी अभियान बनना चाहिए। योग दिवस पर 3 पीढ़ी की एकसाथ योग करती तस्वीर मुझे भेजें।
मोदी ने विश्व पर्यावरण दिवस के लिए गांधी जी के स्वच्छता की मुहीम को बढ़ावा देने की अपील करते हुए मुंबई के वर्सोवा बीच की तस्वीर बदलने वाले लोगों की तारीफ की। उन्होंने कहा कि साल 2015 में अफरोज शाह ने इसे साफ करने के मुहीम की शुरूआत की थी और इसके लिए उन्हें UN ने अवॉर्ड भी दिया।

उन्होंने कहा कि सरकार ने राज्य सरकारों के सहयोग और जनप्रतिनिधियों की मदद द्वारा कूड़ा प्रबंधन का महत्वपूर्ण अभियान छेड़ना तय किया है। विश्व पर्यावरण दिवस पर देश के 4 हज़ार नगरों में सॉलिड व लिक्विड वेस्ट को कलेक्ट करने के लिए हरे व नीले रंग के कूड़ेदान उपलब्ध होंगे। जम्मू-कश्मीर का ‘रियासी ब्लॉक खुले में शौच से मुक्त हुआ है, ब्लॉक के सभी नागरिकों व प्रशासन को बधाई।
पीएम के कार्यक्रम ‘मन की बात’ में आज एक बात खास है कि दूरदर्शन पर जो प्रसारण हो रहा है, उसमें संस्कृत सबटाइटल्स भी दिखाए जा रहे हैं। दूरदर्शन की डीजी सुप्रीया साहू ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी।
इस कार्यक्रम को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह दिल्ली के आरकेपुरम इलाके में गरीब लोगों के साथ रेडियो पर सुन रहे हैं। वहीं भाजपा गुजरात के प्रभारी भूपेंद्र यादव भी अहमदाबाद में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर ‘मन की बात’ सुन रहे हैं।
मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर 26 मई को मन की बात को किताब के रूप में लॉन्च किया गया। ‘मन की बात : ए सोशल रिवोल्युशन ऑन रेडियो’ और ‘मार्चिंग विद ए बिलियन- एनालाइजिंग नरेन्द्र मोदी गवर्नमेंट एट मिडटर्म’ के नाम राष्ट्रपति भवन में दो किताबों का अनावरण किया गया। इन दोनों किताबों की पहली प्रति राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सौंपी गई।
पिछले कार्यक्रम में PM ने VIP संस्कृति की जगह EPI (Every Person important) संस्कृति को बढ़ावा देने का आह्वान करते हुए कहा था कि लाल बत्ती का चलन पूरी तरह से खत्म होना चाहिए। इस प्रभाव को गाड़ियों से ही नहीं दिमाग से भी उतरना चाहिए।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…

Loading…





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *