राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में BJP और JDU 17-17 और LJP 6 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. इस बावत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के घर पर हुई बैठक में जदयू के अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और लोजपा के प्रमुख व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान मौजूद रहे.
पिछले कई दिनों से बिहार में एनडीए में जारी खींचतान खत्म समाप्त होने के साथ ही बिहार लोकसभा चुनाव के लिए पार्टियों की सीटों का गणित साफ हो गया. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के घर रविवार को तीनों दल के नेताओं की बैठक के बाद साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में तीनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटावरे का एलान किया गया.
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इसका एलान करते हुए कहा कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से सत्रह- सत्रह पर भाजपा- जदयू और छह पर लोजपा चुनाव लड़ेगी. शाह ने कहा कि किस पार्टी को कौनसी सीट मिलेगी, इस पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है, इस मुद्दे पर तीनों दलों के नेता एक बार फिर साथ बैठकर चर्चा करेंगे.
अमित शाह ने कहा कि गठबंधन ने राजनैतिक स्थिति और जमीनी हकीकत को देखते हुए सीटों का बंटवारा किया है. तीनों दल लोकसभा चुनाव में जीत के लिए प्रतिबद्ध हैं. आने वाले दिनों में यह भी तय कर लिया जाएगा कि कौन सी सीट पर किस पार्टी का प्रत्याशी मैदान में उतरेगा. बिहार में सरकार पर भी रामविलास पासवान, चिराग पासवान और सुशील मोदी चर्चा करेंगे.


प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में सीटों के बंटवारे की घोषणा हो गई, अब कुछ बोलने की आवश्यकता नहीं है. हम लोग आपस में बैठकर सीट डिसाइड कर लेंगे. हम सब मिलकर काम करेंगे और किसी भी मुद्दे पर बैठकर बात करेंगे. राम विलास पासवान राज्यसभा जाएंगे. BJP का धन्यवाद कि उन्होंने पासवान की इच्छा का ध्यान रखा. 2009 में बीजेपी और जेडीयू का गठबंधन था, तब पूरे देश में सिर्फ बिहार में ही एनडीए को 40 में से 32 सीटें मिली थी. इस बार उम्मीद है कि 2014 और 2009 से भी बेहतर नतीजे आएंगे.
सीट शेयरिंग पर रामविलास पासवान ने कहा हमें सम्मानजनक समझौता होने की उम्मीद थी. मैं अमित शाह, जेटली जी, नीतीश कुमार और चिराग को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने सीट बंटवारे पर फैसला कराया. एनडीए गठबंधन को बिहार में और मजबूत किया जाएगा, एनडीए अगली बार दोबारा केंद्र की सत्ता में आएगी.
पिछले लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी सात सीटों की मांग पर अड़ी लोजपा ने बिहार में राजग के बीच सीट बंटवारे को आगामी 31 दिसंबर तक अंतिम रूप दिए जाने की मांग की थी. सांसद चिराग पासवान ने ट्वीट करके भाजपा और एनडीए पर सवाल उठाए थे. उन्होंने कहा था, ‘टीडीपी व रालोसपा के एनडीए गठबंधन से जाने के बाद एनडीए गठबंधन नाजुक मोड़ से गुजर रहा है. ऐसे समय में भाजपा द्वारा गठबंधन में बचे हुए साथियों की चिंताओं को समय रहते सम्मान पूर्वक तरीके से दूर किया जाए. गठबंधन की सीटों के बारे में BJP नेताओं से हुई कई मुलाकातों के बाद भी ठोस बात नहीं बन पायी है, समय रहते बात नहीं बनने से नुकसान भी हो सकता है.
NDA में सीट शेयरिंग तय होने के बाद राजदनेता तेजस्वी ने ट्वीट किया कि- “जनादेश चोरी के बाद भी BJP बिहार में 22 वर्तमान सांसद होने के बावजूद 17 सीट पर चुनाव लड़ेगी और 2 सांसद वाले नीतीश जी भी 17 सीट पर लड़ेंगे. समझ जाइए NDA के हालात कितने पतले हैं.”



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *