चैम्पियन क्या होता है? 2019 की शुरूआत में नए तेवर और जोशो-खरोश के यह साबित किया है महेंद्र सिंह धौनी ने और अपने आलोचकों को बता दिया कि इंग्लैंड में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने के बाद वह अपनी शर्तों पर ही क्रिकेट को अलविदा कहेंगे. ऑस्ट्रेलिया की धरती पर खेले गये वनडे सीरीज के तीनों मैच में अर्धशतक जड़ धोनी मैन आफ सीरीज बने.
धौनी ने 2018 में 20 वनडे मैचों की 13 पारियों में सिर्फ 25 की औसत और 71.43 के स्ट्राइक रेट से 275 रन बनाए थे, इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 42 रन था. धौनी के 15 साल के क्रिकेट करियर का यह सबसे बुरा वर्ष था जब उनका स्ट्राइक रेट पहली बार 80 के नीचे पहुंचा और औसत भी लगभग एक दशक बाद 50 के नीचे पहुंची. धौनी ने इस वर्ष की शुरुआत में ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मैचों में लगातार तीन अर्धशतक जड़ एक बार फिर अपनी औसत 50 के उपर पहुंचा दिया है.
यही नहीं धौनी सफलता पूर्वक लक्ष्य का पीछा करते हुए दुनिया के सबसे ज्यादा औसत वाले बल्लेबाज भी हैं. उनकी औसत 99.85, जबकि भारतीय कप्तान विराट कोहली जिन्हें लक्ष्य का पीछा करने के मामले में क्रिकेट इतिहास का सबसे कामयाब बल्लेबाज (कम से कम 25 वनडे पारियां खेलने वाले क्रिकेटर्स) माना जाता है उनकी औसत 99.04 ही है. हाँलाकि ओवरऑल बल्लेबाजी औसत में कोहली का एवरेज 59.76 और धौनी का 50.38 है.
विराट कोहली भारत के पहले ऐसे कप्तान बन गए जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया की धरती पर एक ही दौरे में टेस्ट और द्विपक्षीय वनडे सीरीज में जीत दर्ज की है, जबकि तीन मैचों की टी-20 सीरीज भारत ने 1-1 की बराबरी पर खत्म की थी. उसके बाद टेस्ट सीरीज में 2-1 से ऐतिहासिक जीत दर्ज की और अब वनडे सीरीज भी भारत 2-1 से जीतने में कामयाब रहा और इसके साथ ही भारत ने 2018-2019 ऑस्ट्रेलियाई दौरे का अंत बिना कोई सीरीज गंवाए किया.
मेलबर्न वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से मात देकर भारत ने कंगारुओं की धरती पर पहली बार कोई बाइलैटरल (द्विपक्षीय) वनडे सीरीज में जीत हासिल की है. इसके पूर्व 70 साल में पहली बार टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज में मेजबान कंगारुओं को उन्हीं के देश में रौंदकर इतिहास रचा था.


वनडे सीरीज की बात करें तो टीम इंडिया ने इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की धरती पर 12 सीरीज खेली हैं, मगर इसमें एक सीरीज को छोड़ दिया जाए तो बाकी सभी मल्टीनेशन वनडे सीरीज थी. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की एकमात्र द्विपक्षीय वनडे सीरीज 2016 में खेली गई थी, जिसमें भारत को 1-4 से हार झेलनी पड़ी थी. ओवरऑल देखा जाए तो भारत ने ऑस्ट्रेलिया में कुल 51 वनडे खेले हैं जिसमें मात्र 13 में उन्हें जीत मिली जबकि 36 मैच हारे और 2 बेनतीजा रहे.
टीम इंडिया ने वैसे तो इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में दो वनडे सीरीज जीती हैं, लेकिन वह द्विपक्षीय नहीं बल्कि मल्टीनेशन वनडे सीरीज रहीं. भारत ने 1984-1985 में बेंसन एंड हेजेस वर्ल्ड चैंपियनशिप टूर्नामेंट जीता था. इसके बाद भारत ने 2007-2008 में कॉमनवेल्थ बैंक वनडे ट्राई सीरीज अपने नाम की थी.
भारत ने मेलबर्न में खेले गए तीसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया को उसी की धरती पर 7 विकेट से हराकर पहली बार वनडे सीरीज़ जीतने में सफल रही. शुक्रवार को मैच में भारत ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया और ऑस्ट्रेलियाई टीम 48.4 ओवर में 230 रन बनाकर ऑलआउट हो गयी. जवाब में भारत ने 49.2 ओवर में 3 विकेट पर 234 रन बनाकर मैच जीत लिया. धोनी 87 और केदार जाधव 61 रन बनाकर नॉट आउट रहे, धोनी ने पांच साल बाद लगातार तीन मैच में अर्धशतक बनाए हैं.
लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही. रोहित शर्मा को छठे ओवर की आखिरी गेंद पर पीटर सिडल ने शॉम मार्श के हाथों कैच आउट कराया. 17वें ओर की दूसरी गेंद पर धवन (46 गेंद में 23 रन) का कैच स्टोइनिस ने खुद ही लिया और 30वें ओवर की आखिरी गेंद पर ऑस्ट्रेलिया को तीसरी सफलता हाथ लगी जब जे. रिचर्डसन ने कोहली (62 गेंद में 46 रन) को विकेटकीपर एलेक्स केरी के हाथों कैच आउट कराया.
भारत के लिए युजवेंद्र चहल ने सबसे ज्यादा 6 विकेट लिए. इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया में 6 विकेट लेने वाले दुनिया के पहले स्पिनर बनने के साथ ही भारत की ओर से ऑस्ट्रेलियाई धरती पर अजीत अगरकर के 42 रन पर 6 विकेट (2004) के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बराबरी भी की. इसके पूर्व स्पिनर के रूप में रवि शास्त्री ने पर्थ में 15 रनों पर 5 विकेट (1991) लिए थे. 23 ओवर के बाद गेंद मिलते ही चहल ने अपने पहले ही ओवर में ऑस्ट्रेलिया को दो (शॉन मार्श और उस्मान ख्वाज़ा) झटके दिए. इसके बाद पिछले दो वनडे में अच्छी बल्लेबाज़ी करने वाले स्टॉइनिस को भी सस्ते में आउट किया. रिचर्डसन और ऑस्ट्रेलिया के टॉप स्कोरर पीटर हैंड्सकॉम्ब तथा एडम जाम्पा के विकेट चटकाए.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *