आपका भविष्य सुधारने के लिए आपका ये चौकीदार बहुत ईमानदारी से दिन रात एक किए है. अपना विश्वास और आशीर्वाद बनाए रखिए क्योंकि चौकीदार से चोरों की नींद उड़ गई है और एक दिन इन चोरों को सही जगह तक लेकर जाऊंगा.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचने के पूर्व गाजीपुर दौरे पर थे. वहां महाराज सुहेलदेव को समर्पित एक डाक टिकट जारी करने के साथ ही मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखने के बाद आरटीआई मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला. PM ने कहा कि आपका भविष्य सुधारने के लिए आपका ये चौकीदार बहुत ईमानदारी से दिन रात एक किए हुए है, जिससे चोरों की नींद उड़ गई है. आप विश्वास और आशीर्वाद बनाए रखिए क्योंकि मुझ पर आपका विश्वास और आशीर्वाद ही एक दिन इन चोरों को सही जगह तक लेकर जाएगा.
उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक में लाखों किसानों को कर्ज माफी का वादा किया था लेकिन सिर्फ 800 किसानों का ही कर्ज माफ हुआ. ये कैसा खेल, कैसा धोखा है? कांग्रेस ने किसानों से कर्जमाफी का झूठा वादा कर कर्जमाफी की जगह किसानों को झूठ का लॉलीपॉप पकड़ा दिया. लॉलीपॉप पकड़ाने वाली कंपनियों से सतर्क रहें. वोट बटोरने के लिए लुभावने उपायों का हश्र क्या होता है वो मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी दिख रहा है. सरकार बदलते ही वहाँ खाद और यूरिया के लिए लाठियां चलने लगी. हमारी सरकार वोट के लिए योजनाएं नहीं बनाती है और न ही वोट के लिए घोषणाएं करती है. फीते काटने की परंपरा को हमने बदला है.
मोदी ने इसके बाद अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान केंद्र का उद्घाटन करने के साथ ही वहां के वैज्ञानिकों से बातचीत कर केंद्र की बारीकियों को जाना. यहां से PM बड़ालालपुर स्थित पंडित दीनदयाल हस्तकला संकुल में लगे ‘एक जनपद एक उत्पाद’ परियोजना के तहत लगी प्रदर्शनी में गये. वहाँ कहा कि UP का ‘एक जनपद एक उत्पाद’ प्रयोग ‘मेक इन इंडिया’ का ही विस्तार है. उद्यमियों, हस्तशिल्पियों और कलाकारों को फंड की कमी ना हो, उन्हें अच्छी मशीनें औजार मिलें, उनकी सही ट्रेनिंग हो, सही दाम मिल सके और उनके उत्पाद की सही मार्केटिंग हो इसके लिए यह योजना चलायी जा रही है. इस मौके पर उन्होंने कहा कि काशी में अब परिवर्तन दिखने लगा है, दिव्य काशी का स्वरूप अब और भव्य होता जा रहा है. इससे पहले 12 नवंबर को वाराणसी आए PM ने कई परियोजनाओं का शुभारंभ किया था. वाराणसी में 21 जनवरी से होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस की तैयारियां जोरशोर से चल रही हैं.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *