कोहिनूर की वापसी के लिए भारत सरकार 15 अगस्त के बाद यूनाइटेड किंगडम सरकार से बातचीत शुरू कर सकती हैl ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री थेरेसा मे की सरकार के साथ अब इस मसले पर बात होगीl

विदेश मंत्रालय के मुख्यालय जवाहर भवन में हुई उच्चस्तरीय बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और संस्कृति व पर्यटन मंत्री डॉ महेश शर्मा के साथ ही विदेश और संस्कृति मंत्रालयों के सचिव भी शामिल हुएl सूत्रों के अनुसार बैठक में ये तय किया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सरकार के साथ ही देशवासियों की भावनाओं के मुताबिक कोहिनूर को इंग्लैंड के राजघराने से भारत वापस लाने की प्रक्रिया शुरू की जायl

इसके लिए दोनों सरकारों के बीच बातचीत तो होगी लेकिन इससे पहले की प्रक्रिया तय होनी है, यानी पहले ये तय किया जाएगा कि प्रक्रिया का स्वरूप कैसा होगाl पहले चिट्ठी लिखी जाए या इस मुद्दे को प्रतिनिधिमंडल स्तर पर होने वाली बातचीत का हिस्सा बनाया जाएl ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री और सरकार के साथ इसे किस तरीके से आगे बढ़ना उचित होगा इस पर भी गहन विचार जरूरी हैl वैसे संकेत मिल रहे हैं कि संसद के मानसून सत्र के बाद इस बारे में सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के बीच आपसी चर्चा होगीl फिलहाल ये तय किया जाएगा कि किन-किन तरीकों से प्रभावशाली ढंग से यूके सरकार से चर्चा के लिए आगे बढ़ा जा सकता हैl
पंजाब के राजा महाराणा रंजीत सिंह के पास रहे कोहिनूर को अंग्रेज अपने साथ ले गए थेl जो अब इंग्लैंड की महारानी के राजमुकुट की शान बढ़ा रहा हैl इससे पहले नेहरू सरकार के जमाने में भी इसे वापस लाने की चर्चा संसद में और संसद के बाहर होती रही हैl एक बार पंडित नेहरू ने सदन में ये भी कहा था कि कोहिनूर को वापस लाना मुमकिन नहींl एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोहिनूर की वापसी का संकल्प जताकर माहौल गरम कर दिया हैl सरकार के विभिन्न मंत्रालय भी इसे मुमकिन करने में आपसी तालमेल बढ़ाने में जुट गए हैंl

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *