कांग्रेसी सरकारों की गलत नीतियों के कारण देश उन देशों से भी पिछड़ गया जो हमारे साथ आजाद हुए थे. हमारी सरकार दलाली करने वालों से सख्ती से निबट रही है. हर बईमान को मोदी से कष्ट है, इसलिए वह मिल मुझे गाली दे रहे हैं और अब तो मुझे गाली देने के लिए वे देश का भी विरोध करने लगे हैं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ग्रेटर नोएडा में पंडित दीन दयाल उपाध्याय पुरातत्व संस्थान के साथ ही नोएडा सिटी सेंटर से इलेक्ट्रॉनिक सिटी मेट्रो का उद्घाटन करने के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जिस कोयला खान आवंटन में कांग्रेस सरकार ने करोड़ों के घोटाले किए उसको भाजपा सरकार ने पारदर्शी बनाया. मैं किसी को घोटाले नहीं करने दूंगा और घोटाले करने वाले को मैं छोडूंगा भी नहीं.
मोदी ने संबोधन की शुरुआत में कहा कि यहां पर मोदी-मोदी के नारे लग रहे हैं, इससे विरोधी दलों की नींद उड़ गई है. पुरानी सरकारों में नोएडा- ग्रेटर नोएडा को खूब लूटा, पहले नोएडा की पहचान भूमि आवंटन, टेंडर घोटाले से होती थी, लेकिन अब नोएडा की पहचान विकास कार्यों से हो रही है. 2014 से पहले देश में सिर्फ दो मोबाइल कंपनी थी, अब 125 हो गई है.
PM ने कहा कि कांग्रेस की सरकारों में प्राचीन सभ्यता संस्कृति को नष्ट करने, अपने राग दरबारियों- चाटुकारों को इनाम देने के लिए काम किया. मीडिया थोड़ी सी भी छानबीन करेगी तो सारा सच निकल कर बाहर आ जाएगा, राग दरबारी और चाटुकारों की पहचान करनी चाहिए. मैं अपनी जयकार के लिए काम नहीं करता बल्कि, मोदी हिंदुस्तान की जय के लिए काम करता है.
PM ने आतंकवाद के मुद्दे पर कहा कि उरी सर्जिकल स्ट्राइक करके आतंक को पनाह देने वालों को उन्हीं की भाषा में समझाया. पुलवामा की घटना के बाद क्या मुझे चुप बैठना चाहिए था? क्या चौकीदार को सोते रहने चाहिए था? चौकीदार का कर्तव्य नहीं बनता कि वह देश पर हमला करने वालों को कड़ा जवाब दे, इसीलिए रात में 3:30 बजे हमारे जवानों ने आतंकवादियों के छक्के छुड़ा दिए. हमने आतंकवादियों के अड्डे को नष्ट कर दिया. पाकिस्तान दुनिया के आगे रोने लगा कि मोदी ने यह क्या कर दिया? उसे यह पता नहीं था कि अब रिमोट कंट्रोल वाली सरकार नहीं है.

PM ने कहा कि क्या भारत 26- 11 के आतंकवादी हमले को भूल सकता है? उस समय हमारी सेना बदला लेने के लिए तैयार थी, पर सरकार सोती रही. क्योंकि आतंकवादियों पर कार्रवाई करने के लिए तब की रिमोट कंट्रोल वाली सरकार में दम नहीं था. यही कारण था कि मुंबई हमले के बाद भी देश में लगातार आतंकवादी हमले होते रहे, यदि पहले की सरकार ने दमखम दिखाकर आतंकवादियों को उसी की भाषा में जवाब दिया होता तो आज आतंक इतना बड़ा नासूर नहीं बनता.
PM ने कहा कि अब आतंकवादियों के आकाओं को पता चल गया है कि भारत अब पहले वाला भारत नहीं है, भारत बदल गया है. जो देश को टुकड़े करने का सपना देख रहे हैं, देश के खिलाफ साजिश रचने का काम कर रहे हैं उन सबको जवाब दिया जाएगा. जो लोग सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांग रहे है वह पाकिस्तान की मदद कर रहे हैं, ऐसे लोगों को सही रास्ते पर लाने की जरूरत है. ये कैसे लोग हैं जिनके नाम पर पाकिस्तान में तालियां बज रही हैं, इनको पहचानिए. पाकिस्तान दुनिया के आगे चिल्ला रहा है, रो रहा है, लेकिन हमारे यहां सबूत मांगे जा जा रहे हैं. इन लोगों को यह तक नहीं पता था कि बालाकोट कहां है?
मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले पांच साल में जनता तक मूलभूत सुविधाओं को पहुंचाने का काम किया है. ऐसे भारत की योजना तैयार हो रही है जो सफल सक्षम और सुरक्षित हो. जेवर देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा बनेगा और जल्द ही बरेली से हवाई उड़ानें शुरू हो जाएंगी, इसके लिए सभी जरूरी प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई हैं. पिछली सरकारों ने बिजली क्षेत्र को नजरअंदाज किया, जिसके चलते देश के पावर सेक्टर का हाल खस्ता हो गया था. हमारी सरकार ने पिछले पांच वर्षों के दौरान एक लाख मेगावाट बिजली क्षमता तैयार की है जबकि पिछले 65 साल में ढाई लाख मेगावाट क्षमता विकसित हुई. हमने चार चीजों पर फोकस करते हुए चार अलग-अलग स्तरों पर काम किया- Production, Transmission, Distribution, Connection. सौभाग्य योजना के तहत ढाई लाख घरों को बिजली कनेक्शन दिया गया. 2014 में जो LED बल्ब 350 रुपये में मिलते थे आज यह 50 रुपये में मिलते हैं. पहले की सरकारों ने देश के पावर सेक्टर को खस्ताहाल कर दिया था, टीवी चैनलों पर ब्रेकिंग न्यूज चला करती थी कि पावर प्लांट्स में एक दिन-दो दिन का ही कोयला बचा है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *