अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा प्रतिबंध वाले देशों की सूची में पाकिस्तान का नाम नहीं होने के बावजूद पाकिस्तानी नागरिकों को मंजूर अमेरिकी वीजा की संख्या में 40 प्रतिशत की कमी आयी हैl वहीं, भारतीयों को वीजा देने में अमेरिका बिल्कुल भी कंजूसी नहीं कर रहा है। पिछले साल के मार्च-अप्रैल माह की तुलना में अमेरिका ने वीजा देने में 28 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है।
पिछले साल मार्च-अप्रैल के दो माह में जितने पाकिस्तानी अमेरिका गए थे, इस साल उनकी संख्या में 40 फीसदी की कमी आ गई है। इसे ट्रंप प्रशासन की मुस्लिम बहुलता वाले देशों के नागरिकों पर अमेरिकी यात्रा को लेकर लगाए गए प्रतिबंधों से भी जोड़कर देखा जा रहा है।
भारतीयों को वीजा देने में अमेरिका बिल्कुल भी कंजूसी नहीं कर रहा है। पिछले साल के मार्च-अप्रैल माह की तुलना में अमेरिका ने वीजा देने में 28 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है। वैसे भी संख्याबल के हिसाब से पाकिस्तानी और भारतीयों के अमेरिका यात्रा को लेकर जमीन आसमान का अंतर है। पाकिस्तानियों से कई गुना ज्यादा भारतीय अमेरिका की यात्रा कर रहे हैं।

जबकि महत्वपूर्ण बात यह है कि पाकिस्तान के नागरिकों पर अमेरिका ने यात्रा संबंधी कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है। बावजूद इसके पाकिस्तानी लोगों को वीजा देने में अमेरिकी प्रशासन जमकर आना कानी कर रहा है।
यूएस स्टेट डिपार्टमेंट के रिपोर्ट के अनुसार ट्रंप प्रशासन पाकिस्तानियों को वीजा देने में बेहद कंजूसी कर रहा है। अमेरिका पाकिस्तानियों को वीजा ही नहीं दे रहा है। इस साल अप्रैल और मार्च में पाकिस्तानियों को क्रमशः 3925 और 3973 वीजा दिए गए हैं, जबकि भारतीयों के मामले में ये आंकड़ा 87,049 और 97,925 का है। इस लिहाज से भारतीय लोग अमेरिकी वेलकम के मामले में पाकिस्तानियों से कई गुना आगे हैं।
अमेरिका ने 2016 में पाकिस्तानियों को 78,637 नॉनएग्रीमेंट वीजा दिया था, यानी प्रतिमाह औसतन 6553, पर इस वर्ष यह औसत काफी कम है। भारत के मामले में पिछले साल प्रति माह 72,082 वीजा यानि 8,64,987 वीजा पूरे साल में मिले थे, जबकि इस साल अप्रैल और मार्च में क्रमश: 87,049 और 97,925 वीजा भारतीयों को दिए गए। जो पिछले साल की तुलना में 28फीसद तक ज्यादा है।
अमेरिका ने जिन 7 मुस्लिम बाहुल्य देशों के नागरिकों पर अमेरिका की यात्रा पर प्रतिबंध लगाया था, वहां के लोगों को वीजा जारी करने में 55फीसदी तक की गिरावट आई है। ऐसे 7 देशों में ईरान, इराक, सीरिया, सूडान, सोमासिया, लीबिया और यमन शामिल हैं। बाद में इराक को इस लिस्ट से बाहर कर दिया गया था।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…

Loading…





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *