योग गुरु बाबा रामदेव की पंतजलि देशभर में कई एफएमसीजी प्रॉडक्ट्स बनाकर घर-घर तक पहुंचा रही है। कंपनी ने लगभग सभी तरह के प्रॉडक्ट्स बनाए हैं। साबुन से लेकर आटा तक, जूस से डिटर्जेंट पाउडर तक, ऐसे कई प्रॉडक्ट्स बनाने के लिए पंतजलि जानी जाती है। मगर लगता है कि कंपनी इतने में संतुष्ट नहीं है। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक यह जानकारी सामने आ रही है कि पतंजलि रेस्तरां कारोबार में भी निवेश करने का सोच रही है। खबर के मुताबिक कंपनी मैक्डॉनल्ड, केएफसी और सबवे जैसे फास्ट फूड रेस्तरां चेन्स के साथ मुकाबला करना चाहती है। खबर के मुताबिक कंपनी रेस्तरां चेन की शुरुआत करने को लेकर प्लान तैयार कर रही है। बता दें बीते गुरुवार (4 मई 2017) को बाबा रामदेव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कंपनी के कारोबार के मुनाफे की जानकारी दी थी। इसके अलावा लगभग आधे घंटे चली अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने पतंजलि को लेकर कई और महत्वपूर्ण जानकारी दी। वहीं इंडिया फूड फोरम के मुताबिक भारत में रीटेल सेक्टर में फूड स्केटर की भागीदारी लगभग 57 फीसद की है और इसके 2025 तक तीन गुणा तक बढ़ने का अनुमान है। बता दें बीते गुरुवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस रामदेव ने कंपनी के कई विषय के बारे में जानकारी दी। रामदेव ने बताया कि पतंजलि का टर्नओवर 10,561 करोड़ रुपए का रहा और मुनाफा 100 फीसदी की दर से बढ़ा है। वहीं रामदेव ने यह भी कहा कि मुसलमानों में भ्रम फैलाया जा रहा है कि पतंजलि की हर दवा में गोमूत्र होता है। उन्होंने कहा कि लोगों का भरोसा हमारी ताकत है और हम गौमूत्र छिपाकर नहीं बेचते। उन्होंने कहा- “हमारी मात्र पांच औषधियों में गौमूत्र मिलता है। उसमें से पीने वाला एक ही प्रोडक्ट गोमूत्र अर्क है, जिसपर गोमूत्र लिखा हुआ है। बाकि चार अन्य चीजें बिना खाने वाली हैं। इसके अलावा पंतजलि के करीब एक हजार प्रोडक्ट हैं उनमें गोमूत्र नहीं है। हम कुछ छिपाते नहीं है।”

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *