कीड़े की पहली उड़ान से आसमान पर विजय पाने वाले जीवों के विकास की कहानी पर आधारित 40 मिनट की 3डी फिल्म ‘कन्क्वेस्ट ऑफ द स्काइज’ बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने दर्शकों के साथ बैठकर देखी l
उपमुख्यमंत्री ने संजय गांधी जैविक उद्यान में 11 करोड़ की लागत से 150 लोगों के बैठने की क्षमता वाले अत्याधुनिक तकनीक से निर्मित वातानुकूलित 3डी थियेटर का शुभारंभ करने के बाद पहला शो स्वयं भी दर्शकों के साथ बैठकर डेविड एटनबरो द्वारा निर्मित 40 मिनट की 3-डी फिल्म ‘कन्क्वेस्ट ऑफ द स्काइज’ देखी।
उपमुख्यमंत्री ने इस अवसर पर दर्शकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आठ मार्च को कैबिनेट की बैठक के बाद मुख्यमंत्री के साथ मंत्रिपरिषद के सभी सदस्य इस थियेटर में आकर वन्य जीवन पर आधारित फिल्म देखेंगे। उन्होंने कहा कि देश के बेहतरीन चिड़िया घरों में एक पटना जू में अमेरिका के सेंटडियागो के बाद सर्वाधिक 6 नर और 6 मादा गैंडा हैं। इस महीने के अंत तक जू में गैंडा प्रजनन केन्द्र का काम भी पूरा हो जायेगा। साथ ही दो-तीन दिन में 40 सीट की दो बोगियों वाली ट्रैकलेस ट्रेन का औपचारिक शुभारंभ भी होगा।
उन्होंने कहा कि 153 एकड़ में फैले इस जैविक उद्यान में प्रतिवर्ष करीब 22 लाख दर्शक आते हैं। वन्य जीवन से दर्शकों को अवगत कराने के लिए 3 डी थियेटर में प्रतिदिन सुबह 10 से संध्या 4 बजे तक 5 शो प्रदर्शित किए जायेंगे। उन्होंने बताया कि वन्य जीवन पर फिल्म देखने के लिए प्रवेश टिकट के अलावा वयस्क दर्शकों को 50 और बच्चों को 25 रुपये का भुगतान करना होगा। उन्होंने कहा कि 3 डी थियेटर के ऊपर के तल्ले पर इंटरप्रटेशन सेंटर का निर्माण कराया जा रहा है। साथ ही राजगीर में 200 करोड़ की लागत से 400 एकड़ में फैले जंगल सफारी में बाध-भालू को खुले में विचरण करते हुए देखा जा सकता है।

इसके पूर्व अधिवेशन भवन में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 229 करोड़ की लागत से स्टेट डाटा सेन्टर 2.0 का निर्माण होगा जिसके जी प्लस फोर भवन में 16 हजार वर्गफीट ऑपरेशन एरिया होगा।जिसका निर्माण कार्य 18 माह में पूरा कर लिया जायेगा। अब अलग-अलग विभागों के लिए अलग डेटा सेन्टर की जरूरत नहीं होगी। प्राकृतिक आपदा, आपात स्थिति व साइबर हैकरों से डेटा को बचाने के लिए 30 करोड़ की लागत से स्टेट रिकवरी सेन्टर का निर्माण कराया जा रहा है। जिसके टेंडर की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। बिहार सरकार 473 करोड़ की लागत से राज्य मुख्यालय, सभी जिले एवं अनुमंडलों में नेटवर्क सुविधा के लिए भी योजना कार्यान्वित कर रही है।
सुशील मोदी ने आज ट्वीट किया कि सेना- वायुसेना के पराक्रम पर सवाल उठाने और संदेह करने वाले वही लोग हैं, जो ममता बनर्जी के 40 हजार करोड़ के चिटफंड घोटाले पर कोई सवाल उठाये बिना कोलकाता में मंच साझा करने गए थे। जिन लोगों ने 19 महीने बाद भी अपनी अकूत बेनामी सम्पत्ति पर जनता को बिंदुवार जवाब नहीं दिया, वे भी सेना से जवाब मांग रहे हैं। एयर स्ट्राइक -2 का सच जब सामने आएगा, तब आतंकवाद के हमदर्द अपने चेहरे दिखाने लायक नहीं रहेंगे।
उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि सत्ता में आते ही जब गरीबों को धोखा देकर वे चारा और अलकतरा जैसे घोटालों से सम्पत्ति बनाने में लग गए, तब मुख्यमंत्री के पद से गिर कर जेल जाना पड़ा। जब होटल के बदले करोड़ों की जमीन लेने और फर्जी कंपनियों के जरिये बेनामी सम्पत्ति बनाने में लगे, तब परिवार के आधा दर्जन लोग चार्जशीटेड हो गए। वे खुद मुखिया का चुनाव लड़ने लायक भी नहीं रहे। पतन की पराकाष्ठा यह कि अगली पीढ़ी भी दागी हो गई। लालू प्रसाद गर्त को ऊंचाई की मीनार बता कर खुश होते रहें। दिल बहलाने को गालिब ये खयाल अच्छा है।


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *