भारत की सुपरस्टार और पांच बार की चैंपियन एमसी मैरी कॉम (48 किग्रा) ने मंगलवार को दिल्ली में चल रही 10वीं एआईबीए महिला विश्व चैंपियनिशप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. हालांकि युवा मुक्केबाज मनीषा मौन (54 किग्रा) को 2016 विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता स्टोयका पैट्रोवा से 1–4 से पराजय का दंश झेलना पड़ा.
पांच बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम ने चीन की यू वु पर 5-0 (30-27, 29-28, 30-27, 29-28, 30-27) की शानदार जीत दर्ज की, अब वह गुरुवार को उत्तर कोरिया की हयांग मि किम से भिड़ेंगी, जिन्हें उन्होंने पिछले साल एशियाई चैंपियनशिप के फाइनल में हराया था. लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदकधारी मैरी कॉम के दाएं-बाएं हाथ से लगाए गए मजबूत मुक्कों का यू वु के पास कोई जवाब नहीं था और उन्हें टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा.
विश्व चैंपियनिशप में छह पदक जीत चुकी मैरी कॉम ने मुकाबले के बाद कहा कि यह काफी कठिन नहीं थी और न ही आसान था. चीन की मुक्केबाज काफी मजबूत हैं और उसके खिलाफ यह मेरा पहला मुकाबला था. मैं रिंग में ध्यान भंग नहीं होने देती, जिसका फायदा मिलता है.


रिंग में दूसरी भारतीय मनीषा में शीर्ष वरीय खिलाड़ी के खिलाफ अनुभव की कमी स्पष्ट दिखी. मनीषा की यह सीनियर में पहली बड़ी चैंपियनशिप है. उनका मानना रहा कि यह अनुभव भविष्य में उनके लिये बहुत काम आयेगा. बुल्गारिया की मुक्केबाज ने शुरू से ही मनीषा को दबाव में रखा और अपने कुछ बेहतरीन पंच से उन्हें कोई मौका नहीं दिया. मनीषा को शुरू से ही कड़े मुकाबले खेलने पडे हैं. उन्होंने पहले दौर में विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदकधारी और फिर पोलैंड की विश्व चैंपियन को भी मात दी, लेकिन आज वह जीत हासिल नहीं कर सकीं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *