वाराणसी सीट पर प्रियंका गांधी की बजाये अजय राय के कांग्रेस उम्मीदवार बनाए जाने के बाद माना जा रहा था कि विपक्ष ने प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को वाकओवर दे दिया है. पर नामांकन के अंतिम क्षणों में सपा ने शालिनी यादव का टिकट काटकर BSF जवान तेज बहादुर यादव को टिकट देने का फैसला कर इस लड़ाई को काफी दिलचस्प बना दिया है.
सपा- बसपा गठबंधन की प्रत्याशी शालिनी यादव का टिकट काटकर समाजवादी पार्टी द्वारा BSF जवान रहे तेज बहादुर को टिकट देने के फैसले से सबसे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए प्रतिक्रिया दी. उन्होंने तुरंत ट्वीट किया कि- “अखिलेश जी, आपको बहुत बहुत बधाई, PM को चुनौती देने के लिए तेज़ बहादुर को सलाम, एक तरफ़ माँ भारती के लिए जान दाँव पर लगाने और जवानों के हक़ की लड़ाई में अपनी नौकरी गँवाने वाला शख़्स, दूसरी ओर जवानों की आवाज़ उठाने वाले की नौकरी छीनने और जवानों की लाशों पर वोट माँगने वाला शख़्स”. ज्ञात है कि पिछली बार मोदी को टक्कर देने के लिए स्वयं अरविंद केजरीवाल लड़े थे और 2, 09, 238 वोट पाया था.
बीएसएफ जवान रहे तेज बहादुर यादव दो साल पहले एक वीडियो से तब सुर्खियों में आए थे. जब उन्होंने फौजियों को मिलने वाले खाने का एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में वायरल किया था. उन्होंने वीडियो में फौजियों को मिलने वाले खाने की गुणवत्ता बेहद खराब बताते हुए कई आरोप लगाते हुए कहा था कि खाने की शिकायत करने के बाद भी अफसर कोई सुनवाई नहीं करते हैं. यहां तक कि गृह मंत्रालय ने भी उनकी चिट्ठी पर कोई जवाब नहीं दिया. इस वीडियो के जरिए उन्हें देशभर से सहानुभूति मिली थी. इसके बाद सेना ने जांच के आदेश दिए और दोषी पाए जाने के बाद उन्हें बीएसएफ से निकाल दिया गया था.
हरियाणा निवासी तेजबहादुर यादव ने चुनावी मैदान में उतरने के साथ ही कहा कि वे बाबा काशी विश्वनाथ के आशीर्वाद से फ़ौज के नाम पर राजनीति करने वालों और नकली चौकीदार को हराना चाहते हैं. खुद को असली चौकीदार बताते हुए तेज बहादुर कह रहे हैं कि सालों से वे देश की सरहद की हिफाजत करते रहे हैं, लिहाजा वे ही असली चौकीदार हैं.
इसके पूर्व फैशन डिजाइनर शालिनी यादव को सपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ उम्मीदवार बनाया था. वाराणसी में कांग्रेस के टिकट पर मेयर का असफल चुनाव लड़ चुकीं शालिनी यादव के ससुर श्याम लाल यादव कभी गांधी परिवार के सिपहसलारों में एक रह चुके हैं.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *