उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में  एक मुस्लिम- बहुल गांव मडोरा में पंचायत ने गाय की हत्या पर 2.51 लाख रुपए का जुर्माना तय किया है। पंचायत में हिस्सा लेने वाले गांव के पूर्व प्रधान गफ्फार ने बताया कि 2.51 लाख रुपए के कुल जुर्माने में से 51 हजार रुपए ऐसे व्यक्ति को दिए जाएंगे जो गौहत्या या गाय की चोरी करने वाले की जानकारी देगा। गांव के प्रधान उस्मान ने कहा कि इस फैसले की मुख्य वजह गौहत्या और चोरी रोकना है। उन्होंने कहा कि हमने यह फैसला यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा गौहत्या को लेकर शुरू किए गए अभियान के समर्थन में लिया है। योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अवैध बूचड़खानों को बंद करने और गौहत्या-गौतस्करी पर रोक लगाने के आदेश दिए गए थे। योगी सरकार के फैसले के बाद राज्य में बड़े पैमाने पर अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई की गई और उन्हें बंद कराया गया। जुर्माना नहीं देने वालों के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाएगी, इसपर अभी फैसला नहीं लिया गया है। मडोरा की जनसंख्या 3 हजार है, जिसमें से 65 से 70 फीसदी मुस्लिम आबादी है। इसी पंचायत में फैसला लिया गया है कि नकली शराब बेचते पकड़े जाने पर 1.11 लाख रुपए व नशे की हालत में पकड़े जाने पर 31,000 रुपए जुर्माना लगेगा। पंचायत ने यह भी फैसला लिया है कि जो भी लड़की सड़क पर फोन पर बात करती दिखेगी, उससे भी 21 हजार रुपए का जुर्माना लिया जाएगा। इसके अलावा ताश और जुआ खेलने वालों को 1 लाख रुपए जुर्माना देना होगा। गफ्फार ने कहा कि पांच सदस्यों की एक समिति बनाई गई है, जिनके समक्ष जुर्माने की राशि जमा करानी होगी, इन पैसों का इस्तेमाल सामाजिक कार्यों में होगा।

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *