12वीं परीक्षा के बाद विद्यार्थी की सबसे बड़ी समस्या होती है कि अब क्या किया जाये? आगे पढ़ा जाये या नौकरी की तैयारी की जाये. सब की समस्या लगभग एक जैसी ही होती है. वो सोचने लगते हैं कि अपने उज्जवल भविष्य के लिए आगे की पढ़ाई की जाये तो कौन सा कोर्स किया जाये? अगर नौकरी की तैयारी करें तो किस पद के लिए करें? यहीं से शुरू होती है उस विद्यार्थी की समस्या जिसने 12वीं की परीक्षा विज्ञान, कॉमर्स या आर्ट्स से उतीर्ण की है.
क्योंकि हर विद्यार्थी चाहता है की वह अपने पसंदीदा क्षेत्र में आगे बढ़े और वहाँ महारत हासिल करे, अपने समाज में एक अलग पहचान बनाए. अपना एक उज्जवल भविष्य बना सकें. अपने दिल- दिमाग में चल रहे इस उठा पटक से विद्यार्थियों के मन में सैकड़ों अनसुलझे सवाल जन्म लेने लगते हैं. उस समय इन प्रश्नों के उत्तर तलाशना उनके लिए 12वीं की परीक्षा पास करने से ज्यादा कठिन लगने लगता है. तब उन्हें गाईड करने वाला सामान्यतया कोई नहीं होता. जिस विद्यार्थी के घर में पढ़े- लिखे लोग होते हैं वो तो उन्हें अपनी राय से कमोबेश लाभान्वित कर सकते हैं पर जिनके घर में गाईड करने वाले कोई नहीं, उनकी समस्यायें काफी जटिल होती हैं. हम उनके मन में उठ रहे सवालों को हल करने में थोड़ी सहायता करने का प्रयास मात्र कर रहे हैं.
कक्षा दस तक तो सभी विद्यार्थी लगभग एक जैसे विषय पढ़ते हैं और जैसे ही वो 10वीं कक्षा पास करते है, उन्हें अपने पसंद का विषय चुनने की आज़ादी मिल जाती है. तब विद्यार्थी सामान्यतया वो विषय चुनते हैं जिनमें उनकी रूचि होती है. दो वर्ष अपने पसंदीदा विषय की पढ़ाई कर ज्योंही वो 12वीं उत्तीर्ण करते हैं, उनकी जिन्दगी का एक नाजुक दौर शुरू होता है. उनके भविष्य के लिए यह एक टर्निंग पॉइंट होता है. क्योंकि 12वीं के बाद हम नौकरी की भी तलाश में लग सकते हैं, उसकी तैयारी कर सकते हैं. आगे पढ़ाई भी जारी रख सकते हैं. परन्तु मूल समस्या होती है कि नौकरी की तलाश और तैयारी करें तो किस क्षेत्र में अथवा पढ़ाई जारी रखनी है तो क्या पढ़ें? तो चलिए pileekhabar.com आपको बताता है कि आप क्या- क्या कर सकते हैं.?
अपने कैरियर को सही दिशा देने के लिए सबसे आवश्यक है कि हम अपनी रूचि का ध्यान रखें. किसी के दबाव में, जबरदस्ती या देखा- देखी कोई निर्णय ना लें. आज का दौर पुरे तौर पर कम्पटेटिव है, साथ ही बहुत व्यापक भी. आपने आर्ट्स, कामर्स या साइंस जिस विषय से भी इंटर पास किया हो. आपके भविष्य को सही दिशा मिल सके, इसके लिए आपको एक- एक कर बताते हैं कि आप किस- किस क्षेत्र में जाने का निर्णय कर सकते हैं.
तो सबसे पहले हम बात करते हैं आर्ट्स (Arts) की :-

हाँ तो हम सबसे पहले आपको बताते हैं आर्ट्स (Arts) के बारे में, जिसे सामान्यतया सबसे छोटा या कमजोर माना जाता है. लेकिन ये छोटा और बड़ा सबकुछ लोगों की व्यक्तिगत सोच पर निर्भर करता है. आर्ट्स विषय में भी आगे बढने के बहुत से अवसर हैं. हम इसके माध्यम से भी अपना भविष्य सुरक्षित और उज्ज्वल कर सकते हैं. IA उतीर्ण विद्यार्थी विभिन्न विषयों से BA (Bachelor Of Arts) कर सकते हैं. सरकारी क्षेत्र में नौकरी की चाह रखने वाले BA के ही साथ- साथ विभिन्न प्रतियोगी परीक्षायों की तैयारियाँ भी कर सकते हैं. BA करने का फायदा ये होता है की प्रतियोगी परीक्षा में भी लगभग वही विषय आते हैं जो BA के कोर्स में रहते है. BA की डिग्री 3 साल की होती है, और आप अधिकांश प्रतियोगी परीक्षा को BA (स्नातक/ग्रैजुएट) होने के बाद दे सकते हैं. तो अगर आपकी रूचि सरकारी क्षेत्र में नौकरी की है तो BA के साथ प्रतियोगी परीक्षा की तैयारियाँ शुरू कर सकते हैं.
आपका सपना अगर दूसरों को शिक्षित करने के लिए Teacher बनने का है तो भी आप किसी विषय से BA (Hons) कर सकते हैं. उसके बाद आप को 2/3 साल का B.Ed (Teacher Training Course) कोर्स करना होगा, जिसे करने के बाद ही आप Teacher की Post के लिए Apply कर सकते हैं.
आपकी रूचि अगर न्याय के क्षेत्र यानी वकालत/जूडिशियल मजिस्ट्रेट में है, आप वकील या जज बनना चाहते हैं तो आप BA LLB (Bachelor Of Laws & Arts) कर सकते है, LLB Course मे आप को Arts के साथ Law पढना होता है, यह कोर्स 5 साल का होता है. इसमें आपको Political Science, Economics, History, Socialogy Etc Subject के साथ Law (Criminal Law, Administrative Law, Corporate Law, Patent Law, International Law And Labor Etc.) पढ़ना होता है.
इसके अलावा भी बहुत से कोर्स हैं जिन्हें आप 12वीं के बाद कर सकते हैं. कोई अच्छा सा प्रोफेशनल कोर्स, डिप्लोमा, वोकेशनल कोर्स, Fashion Designing, Bsw (Bachelor Of Social Works) एवं Graphic Designer आदि भी कुछ कर सकते है. इसके अलावा भी बहुत से कोर्स हैं जिन्हें 12th Arts से पास विद्यार्थी कर सकता है:-
होटल मैनेजमेंट कोर्स आज के समय का बहुत ही ज्यादा प्रचलित और युवाओं के बीच एक पसंदीदा कोर्स है. इसमें होटल से सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर देश-विदेश के होटल में अच्छी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं.
पार्टियों के शौकीन के लिए इवेंट मैनेजमेंट कोर्स से अच्छा कोई दूसरा कोर्स नहीं है. इस कोर्स से भी एक अच्छी नौकरी पायी ही जा सकती है, आप अपने शौक को भी पूरा कर पाएंगे. वैसे भी अंतराष्ट्रीय स्तर पर इवेंट मैनेजमेंट बहुत तेज़ी से बढ़ने वाली फील्ड है, जिसमें भविष्य की बहुत साडी संभावनाएं हैं.
अगर घूमने-फिरने के आप शौकीन है तो टूरिज्म कोर्स आपके लिए शानदार है. आप इस कोर्स के बाद घुमते हुए अच्छे खासे पैसे कमा सकते हैं. देश भर में बहुत सारे कॉलेज इस कोर्स को करवा रहे हैं और इसकी फीस भी प्रोफेशनल कोर्सेज की तुलना में बहुत काम है.
मास कम्युनिकेशन कोर्स कर आप पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं. इसके द्वारा आप किसी समाचार पत्र या न्यूज़ चैनल में नौकरी पा सकते हो, वीडियोग्राफी, एक्टिंग आदि में अपना करियर बना सकते हैं. कम्पनियां भी अपने यहाँ PRO रखती हैं.
अगर नयी नयी भाषाएँ सीखने में आपकी रूचि हो तो लैंग्वेज कोर्स भी एक अच्छा कोर्स है. इस दू-भाषिए कोर्स के बाद ट्रेवल गाइड जैसा पार्ट टाइम जॉब कर के भी अच्छे पैसे कमाये जा सकते हैं. इसकी शिक्षा के बाद सरकारी नौकरी या किसी अच्छी कंपनी में मोटी पगार पर नौकरी भी प्राप्त कर सकते हैं.
एनीमेशन का नाम तो आपने सुना ही होगा, यहाँ तक की आपने देखा भी होगा. आज कल जितनी भी कॉर्टून फ़िल्में बनती हैं उन सबमें एनीमेशन का उपयोग होता है और तो और फिल्मों में साई-फाई एक्शन सीन के लिए भी एनीमेशन का यूज़ बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है तो इस क्षेत्र में भी भविष्य की बहुत संभावनाएं हैं. आप एनीमेशन कोर्स भी कर सकते हैं.
12th कामर्स के बाद

अब बात करते है की 12th Commerce पास विधार्थी किन-किन क्षेत्रो में अपना करियर बना सकता है, कॉमर्स एक ऐसा विषय है जो 10वी पास करने के बाद सबसे ज्यादा लिया जाता है. इसका एक कारण यह भी है की कॉमर्स वाला विद्यार्थी टेक्निकल और मेडिकल फ़ील्ड को छोड़कर बाकी की फ़ील्ड जैसे बिज़नेस, फ़ाइनेंस, Accounts आदि में जा सकता है, चलिए हम आपको बताते है 12th Commerce के बाद आप किन-किन क्षेत्रो में जा सकते हैं:-
12th Commerce पास विधार्थी के लिए सबसे अच्छा और सबसे उत्तम कोर्स है CA का कोर्स, इस कोर्स की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है की CA करने के बाद आपको नौकरी के लिए इधर-उधर भटकने की जरुरत नहीं होती है. क्योंकि हमारे देश भारत के साथ- साथ पूरी दुनिया में CA की बहुत डिमांड है. CA का कोर्स 5 साल में लगभग पूर्ण हो जाता है. CA का कार्य फ़ाइनेंशियल एडवाइस देना, बिज़नेस एकाउंटिंग करना, टैक्स प्लानिंग करना आदि होता है.
आप BBA (Bachelor Of Business Administration) भी कर सकते हैं. अगर आप MBA करना चाहते हैं तो उसके लिए BBA करना फ़ायदेमंद रहेगा, BBA भी एक Bachelor डिग्री है जिसे पूरा करने में 3 साल का समय लगता है.
B.Com (Bachelor Of Commerce) भी एक Bachelor डिग्री है जिसे पूरा करने में 3 साल का समय लगता है, अगर आप वित्तीय क्षेत्र या बिज़नेस क्षेत्र में जाना चाहते है तो आप B.Com कर सकते है, B.Com के बाद भी Mba किया जा सकता है. इसके अलावा भी बहुत से ऐसे कोर्स है जिन्हें 12th Commerce पास विद्यार्थी कर सकता है, जैसे:- B.Com Account And Finance, B.Com Banking And Insurance, B.Com Financial Markets, CS (Company Secretary) एवं CMA (Cost And Manegment Accountant) आदि.
अब बात Science की

Science, Technical और Theoretical दोनों रूप में होता है, Science Subject से 12वी पास स्टूडेंट भी कई फ़ील्ड में जा सकते हैं. 12th Science में 3 तरह के ग्रुप होते है, Physics, Chemistry, Math (PCM), Physics, Chemistry, Biology (PCB) और General Group (PCMB) Physics, Chemistry, Math, Biology. General Group वाले स्टूडेंट Medical Field और Engineering Field दोनों तरफ जा सकते है. चलिए पहले हम बात करते हैं PCM वाले स्टूडेंट कहा कहा अपना करियर बना सकते हैं.
आपका सपना इंजीनियर बनने का हो सकता है. इंजीनियरिंग एक ऐसी फ़ील्ड है जिसका सैलरी पैकेज काफी अच्छा होता है, और बहुत सी Multi National Companys में भी इंजीनियर की डीमांड अधिक होती है. इसके लिए आपको B.Tech या B.E. करना होगा, यह दोनों कोर्स करने में 4 वर्ष का समय लगता है. B.Tech या B.E. करने के लिए PCM पास होना जरूरी है. B.Tech या B.E.करने के लिए Jee Main/Advance Exam पास करना जरूरी है. उसके बाद B.Tech या B.E आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं. Jee Mains Exam प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन के लिए होती है और Jee Advance Exam सरकारी कॉलेज में एडमिशन के लिए होती है. B.Tech या B.E में भी कई प्रकार की ब्रांच होती है, जिसमे से आप अपने इंटरेस्ट के अनुसार कोई एक ब्रांच चुन सकते हैं.
आपका इंटरेस्ट कंप्यूटर और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में है तो आप Bachelor Of Science In Information Technology (B.Sc It) कर सकते है. इसमें 3 वर्ष का समय लगता है. BCA (Bachelor Of Computer) भी एक ऐसा कोर्स है, जिसे PCM पास विधार्थी 3 साल में पूरा कर सकता है.
अगर आपकी रूचि डॉक्टरी फ़ील्ड में है तो आप कई प्रकार के मेडिकल कोर्सेस कर सकते हैं. इसे करने के लिए आपको PCB पास होना जरूरी है. MBBS (Bachelor Of Medicine & Bachelor Of Surgery) साढ़े पांच वर्ष, B.H.M.S. (Bachelor Of Homeopathic Medicine & Surgery) साढ़े पांच वर्ष, B.A.M.S. (Bachelor Of Ayurvedic Medicine & Surgery) साढ़े पांच वर्ष, B.Pharm (Bachelor Of Pharmacy) चार वर्ष, B.Sc (Nursing) चार वर्ष, B.M.L.T. (Bachelor Of Medical Lab Technicians) तीन वर्ष, D.Pharm (Diploma In Pharmacy) दो वर्ष और D.M.L.T. (Diploma In Medical Lab Technicians) एक वर्ष का कोर्स है.
आज कल कृषि क्षेत्र में भी बहुत उज्जवल भविष्य है. भारतीय कृषि आज आधुनिकता की ओर अग्रसर है तो इसके लिए बहुत सारे एग्रीकल्चर इंजीनियर, डेरी इंजीनियर आदि की आवश्यकता होती है, इसके लिए एग्रीकल्चर कोर्स उपलब्ध हैं. इसके अलावा भी ऐसे कोर्स है जिन्हें PCB पास विधार्थी कर सकता है. इंजीनियर या डॉक्टर के अलावे
साइंटिस्ट बनने का भी विकल्प है. रिसर्च एंड डेवलपमेंट में रुचि रखते हैं, तो इनमें भी अच्छा करियर बना सकते हैं. ग्लोबल इनफॉर्मेशन इंक की रिसर्च के अनुसार नैनो टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री 3 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच चुकी है. इस क्षेत्र में लगभग दस लाख प्रोफेशनल्स की आवश्यकता है. नैनो टेक्‍नोलॉजी में बीएससी या बीटेक और उसके बाद इसी सब्‍जेक्‍ट में एमएससी या एमटेक करके इस क्षेत्र में शानदार करियर बनाया जा सकता है.
स्पेस साइंस भी बहुत ब्रॉड क्षेत्र है. इसके तहत कॉस्मोलॉजी, स्टेलर साइंस, प्लैनेटरी साइंस, एस्ट्रोनॉमी जैसे कई फील्ड्स आते हैं. इसमें तीन साल की बीएससी और चार साल के बीटेक से लेकर पीएचडी तक के कोर्सेज खास तौर पर इसरो और बेंगलुरु स्थित IISC में कराए जाते हैं.
एस्ट्रो-फिजिक्स सितारों और गैलेक्‍सी में दिलचस्पी रखने वाले पांच साल के रिसर्च ओरिएंटेड प्रोग्राम (एमएस इन फिजिकल साइंस) और चार या तीन साल के बैचलर्स प्रोग्राम (बीएससी इन फिजिक्स) में एडमिशन ले सकते हैं. एस्ट्रोफिजिक्स में डॉक्टरेट करने के बाद स्टूडेंट्स इसरो जैसे रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन में साइंटिस्ट बन सकते हैं.
एनवायर्नमेंटल साइंस के तहत इकोलॉजी, डिजास्टर मैनेजमेंट, वाइल्ड लाइफ मैनेजमेंट, पॉल्यूशन कंट्रोल जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं. इन सभी सब्जेक्ट्स में एनजीओ और यूएनओ के प्रोजेक्ट्स बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में जॉब की अच्छी संभावनाएं हैं.
वॉटर साइंस में हाइड्रोमिटियोरोलॉजी, हाइड्रोजियोलॉजी, ड्रेनेज बेसिन मैनेजमेंट, वॉटर क्वॉलिटी मैनेजमेंट, हाइड्रोइंफॉर्मेटिक्स जैसे विषयों की पढ़ाई करनी होती है. हिमस्खलन और बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं को देखते हुए इस फील्ड में रिसर्चर्स की डिमांड बढ़ रही है.
माइक्रो-बायोलॉजी बीएससी इन लाइफ साइंस या बीएससी इन माइक्रो-बायोलॉजी कोर्स कर सकते हैं. इसके बाद मास्टर डिग्री और पीएचडी का भी ऑप्‍शन भी है. इसके अलावा पैरामेडिकल, मरीन बायोलॉजी, बिहेवियरल साइंस, फिशरीज साइंस जैसे कई फील्ड्स हैं, जिनमें साइंस में रुचि रखने वाले स्टूडेंट्स अच्छा करियर बना सकते हैं.
डेयरी साइंस डेयरी टेक्नोलॉजी या डेयरी साइंस के तहत मिल्क प्रोडक्शन, प्रोसेसिंग, पैकेजिंग, स्टोरेज और डिस्ट्रिब्यूशन की जानकारी दी जाती है. ऑल इंडिया बेसिस पर एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद चार वर्षीय स्नातक डेयरी टेक्नोलॉजी के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं. कुछ इंस्टीट्यूट डेयरी टेक्नोलॉजी में दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स भी कराते हैं.
रोबोटिक साइंस इसका इस्तेमाल इन दिनों तकरीबन सभी क्षेत्रों में होने लगा है. जैसे- हार्ट सर्जरी, कार असेम्बलिंग, लैंडमाइंस. अगर आप इस फील्ड में आना चाहते हैं तो इस क्षेत्र से जुड़े कुछ स्पेशलाइजेशन कोर्स भी कर सकते हैं. जैसे ऑर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स, एडवांस्‍ड रोबोटिक्स सिस्टम. कम्प्यूटर साइंस से स्नातक कर चुके स्टूडेंट्स इस कोर्स के लिए योग्य माने जाते हैं. रोबोटिक में एमई की डिग्री हासिल कर चुके स्टूडेंट्स को इसरो जैसे प्रतिष्ठित संस्‍थान में रिसर्च वर्क की नौकरी मिल सकती है.
NDA अगर आप इंडियन आर्मी, इंडियन एयर फ़ोर्स या इंडियन नेवी में नौकरी करना चाहते हैं तो आप इसमें भर्ती के लिए सम्मिलित प्रवेश परीक्षा NDA की तैयारी कर सकते हैं.



loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *