SC-ST को उद्योग लगाने के लिए मिलेगा 5 लाख अनुदान और ब्याज मुक्त ऋण

 123 



उद्योग मंत्री जयकुमार सिंह ने कहा कि एससी-एसटी वर्ग के युवा उद्यमियों को सरकार स्व रोजगार और उद्योग लगाने के लिए 5 लाख रुपए तक ब्याज मुक्त ऋण देगी। इस वर्ग के युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए प्रति इकाई उद्योग के लिए लागत मूल्यका 50 प्रतिशत और अधिकतम 5 लाख रुपए तक सरकार अनुदान भी देगी।
एससी-एसटी उद्यमी योजना के लिए विभागीय पोर्टल लांच करते हुए शु्क्रवार को उन्होंने कहा कि योजना का लाभ लेने के लिए लाभुक को राज्य का निवासी और कम से कम इंटरमीडिएट, आईटीआई, पॉलिटेक्निक डिप्लोमा या समकक्ष उत्तीर्ण होना चाहिए। जिनकी उम्र 18 वर्ष से कम नहीं हो। इकाई प्रोपराइटशीप फर्म, पार्टनरशीप फर्म, एलएलपी या प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तहत निबंधित होनी चाहिए।
लाभुकों को ऑनलाइन आवेदन बिहार स्टार्ट अप फंड ट्रस्ट को देना होगा। विशेष स्व रोजगार योजना के तहत उद्यमी बेकरी, आटा-सत्तू उद्योग, पशु आहार उत्पादन, मसाला उद्योग, नमकीन उत्पादन सहित विभिन्न प्रकार के उद्योग लगा सकते हैँ। एससी-एसटी लाभुकों के लिए 2018-19 में 102.50 करोड़ राशि रखे गए हैं, जबकि 2017-18 में 70.39 करोड़ का प्रावधान किया गया था।


लाभार्थियों का चयन विभागीय प्रधान सचिव की अध्यक्षता में गठित दस सदस्यीय कमेटी करेगी। इसमें तकनीकी विकास निदेशक, उद्योग निदेशक, बिहार राज्य वित्त निगम के एमडी, विभागीय आंतरिक वित्तीय सलाहकार, उप उद्योग निदेशक योजना प्रभारी, चंद्रगुप्त प्रबंध संस्थान और विकास प्रबंधन संस्थान के एक-एक प्रतिनिधि, बिहार उद्योग संघ और बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष सदस्य होंगे।
इस योजना के तहत राशि तीन चरण में दी जाएगी। प्रथम किस्त का भुगतान परियोजना स्वीकृति के बाद 25 प्रतिशत अधिकतम 2.50 लाख रुपए दिया जाएगा। भूमि की व्यवस्था और शेड निर्माण के बाद द्वितीय किस्त दिया जाएगा। अधिकतम 10 लाख की इकाई में 50 प्रतिशत 5 लाख ब्याज रहित ऋण की वसूली 84 समान किस्तों में होगी। सभी लाभुकों के प्रशिक्षण एवं परियोजना अनुश्रवण समिति (पीएमए) सहायता के लिए प्रति इकाई 25 हजार के दर से व्यय किया जाएगा।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *