वित्तमंत्री अरुण जेटली ने आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने किसी मास्टर्स डिग्री बगैर एम. फिल. कर ली है. स्मृति इरानी की शैक्षिक योग्यता पर सवाल उठाने के लिए कांग्रेस और उसके मुखिया राहुल गांधी पर तीखा हमला बोलते हुए जेटली ने फेसबुक पर अपने ताजा ब्लॉग में कहा कि कांग्रेस यह भूल गई है कि गांधी की अकादमिक योग्यता की एक सार्वजनिक जांच से कई सारे प्रश्न खड़े हो सकते हैं.
जेटली की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब एक दिन पहले ही BJP सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने राहुल गांधी के पर आरोप लगाया था कि ‘उनका कैम्ब्रिज का सर्टिफिकेट कहता है कि उनका नाम राहुल विंसी है और उन्होंने एम. फिल. किया है और नैशनल इकनॉमिक प्लानिंग ऐंड पॉलिसी में फेल हैं.
स्वामी ने कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी का एक सर्टिफिकेट भी ट्विटर पर पोस्ट किया था, जिसमें कहा गया है कि राहुल विंसी को नैशनल इकनॉमिक प्लानिंग ऐंड पॉलिसी में 58 प्रतिशत अंक, जबकि कुल 62.8 प्रतिशत अंक हासिल हुआ है. सर्टिफिकेट कहता है कि पासिंग मार्क 60 प्रतिशत है. स्वामी ने इससे पहले राहुल गांधी पर 4 पासपोर्ट रखने के भी आरोप लगाए थे और कहा था कि उसमें से एक पासपोर्ट राहुल विंसी के नाम से है.
कांग्रेस ने स्मृति इरानी द्वारा शैक्षिक योग्यता के बारे में निर्वाचन आयोग को विरोधाभासी हलफनामे सौंपने के खिलाफ आयोग से शिकायत की थी. कांग्रेस ने इरानी के चुनावी हलफनामों में अलग-अलग शैक्षिक योग्यता बताने को लेकर तंज कसते हुए कहा कि एक नया सीरियल आने वाला है- क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रैजुएट थीं. इरानी गांधी परिवार के गढ़ अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनौती दे रही हैं. वह पिछली बार भी अमेठी से लड़ी थीं, लेकिन हार गईं और लगातार अमेठी में सक्रिय रहीं.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *