जम्मू-कश्मीर की पूर्व CM व PDP प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि पाकिस्तान के PM इमरान खान को एक और मौका मिलना चाहिए. हाँलाकि उनके सबूत वाले बयान पर असहमती व्यक्त करते ह्य्ते कहा कि पठानकोट मामले में भारत ने तो डोजियर सौंपा था, लेकिन कोई एक्शन नहीं हुआ.
पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले में अपने 40 वीर सपूतों को खोने के बाद भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाते हुए सबसे पहले पाकिस्तान से MFN का दर्जा छीन लिया और वहाँ से आयत होने वाले सामानों पर ड्यूटी 200% बढ़ा दिया. अब दुनिया भर के नेताओं से बात कर पाकिस्तान को अलग-थलग करने की रणनीति पर काम शुरू कर दिया है. भारत की सख्ती से घबराहट के माहौल में पाकिस्तान के PM इमरान खान ने मंगलवार को सफाई और धमकी एक साथ दी.
इमरान खान ने कहा कि बिना सबूत के पाकिस्तान पर इल्जाम लगाया गया है. सोशल मीडिया में बातें हो रही हैं कि पाकिस्तान को सबक सिखाया जाए, पाकिस्तान से बदला लिया जाए. हर बार पाक पर इल्जाम क्यों लगाया जाता है? पाकिस्तान को पुलवामा हमले से क्या मिलता? भारत ने कोई सबूत नहीं दिया है, यदि सबूत मिलता है तो कार्रवाई की गारंटी देता हूँ. पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ नहीं है, हम हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं. हम दहशतगर्दी पर बात करने के लिए तैयार हैं.
साथ ही पाक PM ने भारत को धमकी भी दे डाली कि यदि भारत ने कोई कार्रवाई की तो पाकिस्तान जवाबी कार्रवाई करने को सोचेगा नहीं, कार्रवाई करेगा. यदि हम पर युद्ध थोपा गया, तो हम करारा जवाब देंगे. जंग शुरू करना तो आसान है, लेकिन खत्म करना हमारे हाथ में नहीं है. इमरान खान ने अपनी जमीन से आतंकी गतिविधियों की बात को सिरे से खारिज करते हुए भारत पर ही सवाल खड़े कर दिए. इमरान खान ने कहा कि भारत को खुद आंकलन करना चाहिए कि कश्मीर का युवा मरने के लिए क्यों तैयार हो गया है, वह आतंकी गतिविधियों में क्यों शामिल हो रहा है?


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *