भारत मेक इन इंडिया के बल पर अब विदेशों में भी अपना जलवा दिखने लगा है. भारत में बनी एडवांस ट्रेन इसका ताजा उदाहरण बनी जिसे निकट भविष्य में ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में सरपट भागना है. हम अब तक जहाँ मेट्रो विदेशों से इंपोर्ट कर रहे थे, वहीं अब हम विदेशों में इसे एक्सपोर्ट करने वाले बन गये हैं. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर बताया कि भारत में बनी अत्याधुनिक मेट्रो ट्रेन सिडनी में दौड़ने वाली है.
चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वॉर के कारण विदेशी कंपनियां भारत में निवेश करना बेहतर समझ रही हैं. स्मार्टफोन निर्माण करने वाली कई कंपनियों ने भारत में अपना प्रोडक्ट निर्माण करना शुरू किया है. टेक्नोलॉजी के मामले में भी भारत तेजी से विश्व पटल पर उभर रहा है.
2014 में सत्ता में आने के बाद मोदी सरकार ने देशी और विदेशी कंपनियों द्वारा भारत में निर्माण को बढ़ावा देने के लिए “मेक इन इंडिया” अभियान की शुरुआत की थी. इसी अभियान के तहत भारत में बनी मेट्रो रेलवे कोच ऑस्टेलिया के मेट्रो लाइन पर दौड़ने वाली है. सिडनी में पहली बार ड्राइवर लेस मेट्रो लाइन शुरू हुई है, जिसमें 6 कोच वाली 22 एल्सटॉम ट्रेनों द्वारा सेवा दी जाएगी. ऑस्ट्रेलिया में ये मेट्रो ट्रेन नॉर्थ वेस्ट रेल लिंक में तल्लावांग स्टेशन से चैट्सवुड स्टेशन के बीच कुल 13 स्टेशनों के बीच चलेगी.
भारतीय कंपनी एल्सटॉम एसए ने सिडनी मेट्रो के लिए 22 मेट्रो ट्रेन उपलब्ध करवाई है. भारत में इन ट्रेनों को आंध्र प्रदेश के श्री सिटी में असेंबल किया गया है. इस मेट्रो ट्रेन में एलईडी लाइट, इमरजेंसी इंटरकॉम, सीसीटीवी कैमरा जैसी सुविधाएं उपलब्ध रहने के साथ ही यह पूरी तरह से ऑटोमेटिक है. भारतीय कंपनी ने 15 सालों के लिए डिपो चलाने और सिग्नलिंग सिस्टम की देख रेख करने के लिए भी सिडनी मेट्रो के साथ करार किया है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *