केन्या के एक सांसद रिचर्ड न्यागका टोंगी ने जो किया उसे जानने सुनने के बाद दिल को जो सुकून मिलेगा उसकी कल्पना मात्र से दिल बल्लियों उछलने लगेगा. आज भी दुनिया में ऐसे लोग हैं जो किसी के 200 रुपए वापस करने के लिए 22 साल बाद केन्या से चलकर भारत आते हैं.
केन्या के सांसद रिचर्ड न्यागका टोंगी महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक दुकानदार को 200 रुपए वापस करने 22 साल बाद केन्या से पत्नी के साथ भारत आये हैं. टोंगी महाराष्ट्र के मौलाना आजाद कॉलेज में 1985- 89 के दौरान मैनेजमेंट की पढ़ाई करते थे. उस दौरान औरंगाबाद के वानखेडेनगर इलाके में काशीनाथ ग्वाली अपनी दुकान चलाते थे. तब ग्वाली की दुकान से टोंगी ने 200 रुपए का राशन व खाने- पीने का सामान उधार लिया था. पढ़ाई पूरी करने बाद वो एकाएक केन्या लौट गये और उनपर ग्वाली का 200 रुपए का कर्ज रह गया था.
दुकानदार काशीनाथ ग्वाली ने जब केन्या के न्याड़ीबाड़ी कैशे निर्वाचन क्षेत्र से चुने गए केन्याई सांसद को 22 साल बाद अपने सामने पाया तो वो काफी भावुक हो गए. उनका गला भर आया. ग्वाली के परिवार वाले केन्याई सांसद को एक अच्छे होटल में खाने पर ले जाना चाहते थे पर टोंगी ने कहा कि हमें अपनी पत्नी सहित आपके घर में आप सबके साथ ही खाना है.
केन्यायी सांसद से 200 रुपए के लिए इतनी दूर भारत आने के संदर्भ में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि- “मेरे ऊपर 22 सालों से 200 रुपए का कर्ज था. उन्होंने मुझे खाना खिलाया था लेकिन मैंने उनका कर्ज नहीं चुकाया था. अब मैं वही कर्ज चुकाने इंडिया आया हूँ. अब मेरे दिल को तसल्ली मिली है.” टोंगी ने कहा कि- “यहां तक पहुंचने की हमारी यात्रा भावनाओं से भरी रही है. जब मैं यहाँ छात्र के रूप में रहता था तब इन लोगों ने मेरी काफी मदद की थी. बुजुर्ग ग्वाली और उनके बच्चों को ईश्वर लंबी उम्र दे, ये शानदार लोग हैं. मैंने मन में सोचा था कि कभी भी मैं वापस आऊंगा और अपना कर्ज अदा करूंगा तथा इनलोगों को धन्यवाद कहूँगा. मेरे लिए यह काफी भावनात्मक क्षण है.’


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *