इस्लामिक स्टेट (ISIS) ने अपनी समाचार एजेंसी के माध्यम से श्रीलंका बम विस्फोटों की जिम्मेदारी का दावा किया. चर्च और होटलों में हुए सिलसिलेवार धमाकों से श्रीलंका रविवार को दहल गया था. इन हमलों की भारत समेत पूरी दुनिया में निंदा हो रही है और दुनिया के अधिकतर शक्तिशाली नेताओं ने श्रीलंका के साथ खड़े रहने की बात भी कही.
श्रीलंका के चर्चों और लक्जरी होटलों को ईस्टर के दिन निशाना बनाया गया था. जिसमें कम से कम 321 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 500 से अधिक लोग घायल हुए थे.
मंगलवार को श्रीलंका के उप रक्षा मंत्री रुवान विजयवर्धने ने हमले को क्राइस्टचर्च का बदला बताया. विजयवर्धने ने संसद को बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चलता है कि श्रीलंका में रविवार को जो हुआ वो क्राइस्टचर्च में मुसलमानों के खिलाफ हुए हमले का बदला था. पुलिस ने इस मामले में अब तक 40 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है.
ईस्टर वाले दिन पहला धमाका 8 बजकर 45 मिनट पर कोलंबो के तीन चर्चों सेंट एंथनीज चर्च, पश्चिमी तटीय शहर नेगोंबो में सेंट सेबेस्टियन चर्च और पूर्वी शहर बैटलिकलोआ में एक और चर्च में हुआ था. साथ ही पांच सितारा होटल, शांगरीला, द सिनामॉन ग्रैंड और द किग्सबरी में भी तीन विस्फोट हुए. एक के बाद एक आठ धमाकों से श्रीलंका में सनसनी फैल गई.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *