IPL में सबसे ज्यादा रन, चौके, छक्के, विकेट, हैट्रिक के साथ कुछ अजीबो ग़रीब रिकॉर्ड्स

 101 


IPL के अब तक 10 संस्करण हो चुके हैं. इसमें शुरू से बल्लेबाजों का बोलबाला रहा है. बल्लेबाजों ने कई नए नए आंकड़े बनाये हैं. दूसरी ओर गेंदबाजों ने भी अपने अजब- गजब जौहर दिखाए हैं. कई अजीबो ग़रीब रिकॉर्ड्स भी बने हैं. अभी जब IPL का 11 संस्करण चल रहा है, इसी बीच कुछ रिकॉर्ड्स पर एक नजर डालते हैं.
इसी क्रम में आइये सबसे पहले आईपीएल के टॉप स्कोरर को जानें.
सुरेश रैना IPL के दस सीजन में 161 मैचों की 157 पारियों में 4540 रन बनाकर टॉप स्कोरर हैं. चेन्नई सुपर किंग्स से आठ और गुजरात लायंस से दो सीज़न खेल चुके रैना ने 24 बार नाबाद और सात बार बगैर खाता खोले 139 के स्ट्राइक रेट एवं 34.13 के औसत से खेलते हुए कुल 402 चौके और 173 छक्के जड़े हैं. रैना ने 31 अर्धशतक और एक शतक (100*) लगाया है.
विराट कोहली ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से दसों सीज़न खेलते हुए 149 मैचों की 141 पारियों में 129 के स्ट्राइक रेट से 4418 रन बना चुके हैं. 382 चौके और 159 छक्के लगा लगाने वाले कोहली ने 37.44 के औसत से खेलते हुए कुल 4 शतक (सर्वोच्च 113) और 30 अर्धशतक लगाया है.
रोहित शर्मा ने डेक्कन चार्जर्स और मुंबई इंडियन्स की ओर से खेलते हुए 159 मैचों की 154 पारियों में 130.89 के स्ट्राइक रेट और 32.61 के औसत से 4207 रन बना चुके हैं. 354 चौके और 172 छक्के जड़ने वाले रोहित 32 अर्धशतक और एक शतक (109 नाबाद) लगा चुके हैं.
नाइटराइडर्स और दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से 148 मैचों की 147 पारियां खेल चुके गौतम गंभीर ने 124.6 के स्ट्राइक रेट से 4132 रन बना चुके हैं. 35 अर्धशतक लगा चुके गंभीर एक भी शतक (सर्वोच्च 93) नही बना पाए हैं. सर्वाधिक 484 चौके लगानेवाले गंभीर ने इस बीच 58 छक्के लगाये हैं.
इनके अलावे डेविड वॉर्नर 114 पारी में 4014 रन, रॉबिन उथप्पा 143 पारी में 3778 रन, क्रिस गेल 100 पारी में 3626 रन, शिखर धवन 126 पारी में 3561 रन, महेंद्र सिंह धोनी 143 पारी में 3561 रन तथा एबी डीविलियर्स 118 पारी में 3473 रन बना चुके हैं.
सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाज
IPL के इतिहास में सर्वाधिक छक्के लगाने के मामले में T20 क्रिकेट में दस हजार रन बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज क्रिस गेल पहले नंबर पर हैं. जिन्होंने मात्र 101 मैच में 265 छक्के लगाए हैं.
सुरेश रैना 161 मैच में 173 छक्के मारकर सर्वाधिक छक्के लगाने वालों की सूची में दूसरे नंबर पर आते हैं. रोहित शर्मा ने 159 मैचों में रैना से 1 छक्का कम 172 छक्के मारे हैं. डेविड वॉर्नर ने मात्र 114 मैचों में 160 छक्के मारे हैं. विराट कोहली ने 150 मैचों में 160 छक्के मारे हैं और वो IPL में सर्वाधिक छक्के लगाने के मामले में पांचवें नंबर पर आते हैं.
सर्वाधिक चौके लगनेवाले बल्लेबाज
IPL में गौतम गंभीर ने सबसे ज्यादा चौके लगाने का रिकार्ड अपने नाम कर रखा है. गंभीर ने 148 मैच में सर्वाधिक 484 चौके मारे हैं.
सुरेश रैना रह चुके और आईपीएल के इतिहास के दूसरे सबसे कामयाब बल्लेबाज़ सुरेश रैना. सुरेश रैना इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सबसे ज्यादा चौके मारने वाले दूसरे बल्लेबाज़ हैं.
सुरेश रैना के बल्ले ने 161 मैच में 402 चौके उगले हैं. उधर शिखर धवन ने 127 मैच में 401 चौके मार डाले हैं. चौथे नंबर पर डेविड वार्नर ने 114 मुकाबलों में 401 चौके लगाये हैं. इस मामले में पांचवें स्थान पर विराट कोहली हैं. विराट ने 149 मैच में 382 चौके लगाये हैं.


सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज
IPL इतिहास में सबसे अधिक विकेट लेना के मामले में लसिथ मलिंगा का नाम आता है. हाँलाकि मलिंगा ने 2009 से IPL में खेलना शुरू किया था और चोटिल होने के कारण 2016 में वह खेल ही नहीं पाए थे. मलिंगा ने 110 मैचों में 19.01 की बेहतरीन औसत के साथ 154 विकेट लिए हैं, जिस दौरान उनका इकॉनमी रेट 6.86 रहा है.
डेक्कन चार्जस, दिल्ली डेयरडेविल्स और सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेल चुके अमित मिश्रा सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में दूसरे नंबर पर हैं. वह अब तक 126 मैचों में 24.33 की औसत से 134 विकेट अपने नाम कर चुके हैं. 7.41 की इकॉनमी रेट के साथ इस दौरान मिश्रा ने रन दिए हैं.
हरभजन सिंह साल ने 136 मैचों में 127 विकेट लिए हैं.। इस दौरान उनका गेंदबाजी औसत 26.65 और इकॉनमी रेट 6.95 का रहा है. इस दौरान सबसे शानदार प्रदर्शन 5/18 का रहा.
स्पिन गेंदबाज पीयूष चावला ने 129 मैचों में 126 विकेट लिए हैं. उनका गेंदबाजी का औसत 25.88 और इकॉनमी रेट 7.63 रन प्रति ओवर रह है. बेहतरीन प्रदर्शन 4/22 रहा है.
हरफनमौला खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो 106 मैचो में 122 विकेट ले चुके हैं. उनका गेंदबाजी औसत 22.58 और इकॉनमी रेट 8.19 रहा है. उनका भी बेहतरीन गेंदबाजी प्रदर्शन 4/22 रहा है.
हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज
बाएं हाथ के स्पिनर अमित मिश्रा ने 126 मैचों में 24.33 की औसत से 134 विकेट झटके हैं. मिश्रा IPL के दस वर्षों के इतिहास में सबसे ज्यादा 3 बार हैट्रिक भी ले चुके हैं. युवराज सिंह ने तूफानी बल्लेबाज के साथ ही गेंदबाज़ी में भी अपना कमाल दिखाया है. युवराज ने 120 मैचों में 29.27 की औसत से 36 विकेट झटके हैं और वह दो बार हैट्रिक लेकर इस सूची में दूसरे नंबर पर आते हैं.
एंड्रयू टाई ने IPL के मात्र 6 मैचों मे 11.75 की औसत से 12 विकेट झटके हैं और उन्होंने इस दौरान 1 बार हैट्रिक ली है. मखाया एंटिनी ने 9 मैचों में 34.57 की औसत से 7 विकेट चटकाए हैं. चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से मखाया ने 2008 में कोलकाता के खिलाफ हैट्रिक ली थी. उन्हें इस सूची में चौथे नंबर पर माना जाता है. अजीत चंदेला ने 12 मैचों में 22 की औसत से 11 विकेट चटकाए हैं और वह इस सूची में पांचवे नंबर पर आते हैं. चंदेला ने राजस्थान रॉयल्स के लिए 2012 में पुणे वॉरियर्स के खिलाफ हैट्रिक ली थी.

कुछ अजीबो ग़रीब रिकॉर्ड्स
वैसे तो पिछले दस वर्षों में कई रिकॉर्ड बने हैं पर उनमें कुछ अविश्वसनीय से लगते हैं. रिकॉर्ड बनते ही टूटने के लिए हैं पर ये रिकार्ड कब टूटेंगे कोई कुछ कह नहीं सकता.
IPL में 14 खिलाड़ियों ने 17 हैट्रिक लिए हैं, इनमें से बारह ने एक- एक हैट्रिक अपने नाम किये. केवल दो खिलाड़ियो ने एक से अधिक बार हैट्रिक लिया है. अमित मिश्रा (IPL में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज़) ने तीन बार हैट्रिक लिया है. वहीं दूसरी ओर युवराज सिंह ने 2009 में किंग्स-XI पंजाब के लिए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के उथप्पा, कैलिस और बाउचर को पवेलियन भेजा और पुनः उसी सीजन में डेक्कन चार्जर्स के गिब्स, साइमंड्स और वेणुगोपाल राव को लगातार तीन गेंदो में आउट कर दूसरा हैट्रिक पूरा किया. युवराज सिंह एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने एक सीजन में दो हैट्रिक ली है.
IPL गेंदबाजों के लिए एक परीक्षा है, इसमें गेंदबाजों के सामने काफी मुश्किलें होती हैं. इस प्रारूप में डॉट गेंदों और मेडन ओवरों का होना दुर्लभ ही होता है. पर कई गेंदबाजों ने रनों की बरसात के बीच अपने प्रदर्शन का लोहा मनवाया है. IPL के सबसे प्रशंसनीय खिताब ‘सबसे ज्यादा डॉट गेंद’ या ‘सबसे अधिक मेडन ओवर बोल्ड’ ये दोनों रिकॉर्ड अविश्वसनीय रूप से पूर्व तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार के नाम है.
प्रवीण कुमार 119 पारियों में 1075 डॉट बॉल और 14 मेडन ओवर के साथ शीर्ष पर हैं. डॉट गेंद के लिए उनका रिकॉर्ड 11वें सीज़न में टूट सकता है, लेकिन मेडन ओवरों के लिए उनका रिकॉर्ड कुछ और समय टिका रह सकता है. ज्ञात हो कि प्रवीण कुमार 2014 की निलामी में नहीं बिके थे.
कोलकाता नाइटराइडर्स ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 140 रनों से हराया था. रनों के लिहाज़ से IPL की सबसे बड़ी जीत में यह आज भी दर्ज है.
रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर अपने घरेलू स्टेडियम में सिर्फ 82 रनों पर ऑलआउट हो गयी थी. बैंगलोर की टीम 2017 में इडन गार्डन्स में कोलकाता नाइटराइडर्स के 132 रन का पीछा करते हुए मात्र 49 रनों पर आउट हो गयी थी. जबकि क्रिस गेल, विराट कोहली, एबी डीविलियर्स, शेन वॉट्सन और केदार जाधव जैसी मजबूत बल्लेबाजी लाइनअप उसके पास थी. 11में से कोई भी बल्लेबाज दो अंकों में नहीं पंहुचा था. जबकि IPL इतिहास के पांच में से तीन शीर्ष स्कोर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के ही नाम हैं.
IPL में कुछ असाधारण पारियों भी देखने को मिली हैं. क्रिस गेल की 175 रनों की शानदार पारी, IPL के प्रथम मैच में ब्रेडन मैकुलम की 158 रनों की विस्फोटक पारी, विराट कोहली, एबी डीविलियर्स, रोहित शर्मा, एमएस धोनी और डेविड वॉर्नर एवं कई अन्यों ने अपने ताबड़तोड़ प्रदर्शन से दर्शकों का खूब मनोरंजन किया है.
250 से अधिक की स्ट्राइक रेट से स्कोर करते हुए 19 बार 20 या उससे कम गेंद पर अर्धशतक बनाये गये हैं. इस सूची में धोनी, रैना, गेल, वॉर्नर और गिलक्रिस्ट जैसे परिचित नाम तो शामिल हैं ही. यूसुफ पठान ने 2014 में सनराइज़र्स हैदराबाद के खिलाफ 15 गेंद में अर्धशतक जड़ इस सूची में शीर्ष स्थान पर हैं. पर जिस व्यक्ति ने सर्वाधिक वाह- वाही लुटी उसके बारें में सोचना काफी मुश्किल है. 2017 में सुनील नारेन ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त करते हुए 6 चौके और 4 छक्के लगाकर सिर्फ 17 गेंदों में 54 रन बना डाले थे. जबकि 2012 से 2016 तक नारायण के नाम सिर्फ 47 रन थे. नारेन IPL के सबसे सफल गेंदबाजों में से भी एक हैं, जिन्होंने 6.32 की शानदार इकॉमनी रेट के साथ 95 विकेट लिए हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *