इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टर्मिनल-3 पर दुनिया का सबसे बड़ा चरखा लग गया। लकड़ी के इस 4 टन वजन वाले चरखे को गांधीजी के अहिंसक आंदोलन के सिम्बल के तौर पर विदेशों से आने वाले टूरिस्ट और गेस्ट को दिखाया जाएगा।

मंगलवार को इस चरखे का इनॉगरेशन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने किया। जिसे अहमदाबाद के खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग की एक यूनिट ने तैयार किया है। जिसे करीब 26 कारीगरों और कारपेंटर्स ने मिलकर 40 दिनों में बनाया है। टीक की हाई क्वालिटी लकड़ी से बने इस चरखे का वजन चार टन से भी ज्यादा है। चरखे की लम्बाई नौ मीटर (27 फीट) और ऊँचाई 5 मीटर (15 फीट) है। इसकी उम्र 50 साल से भी ज्यादा बताई जा रही है।

अहमदाबाद के खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन वीके सक्सेना की पहल पर केंद्र सरकार ने इस चरखे को IGI एयरपोर्ट पर रखने का फैसला किया था। IGI एयरपोर्ट पर रोजाना करीब ढाई लाख लोग आते-जाते हैं।

महात्मा गांधी के दक्षिण अफ्रीका से स्वदेश लौटने के 100 साल पूरे होने को केंद्र सरकार यादगार बनाना चाहती है और इसके लिए वह कई प्रोग्राम बना रही है। इसके अलावा इस साल खादी और ग्रामोद्योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने और भी कई कदम उठाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *