GST में फाइल हुए 38.38 लाख रिटर्न और 92283 करोड़ रुपये हुए जमा

 95 


GST वस्तु एवं सेवा कर लागू होने के बाद पहले महीने में कुल 92283 करोड़ रुपये की कर वसूली हुई। जबकि इस अवधि में कुल 38.38 लाख रिटर्न दाखिल किए गए जो कि कुल जीएसटी नंबर धारकों का 64.42 फीसदी है। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने GST की तुलना घर में आई नई बहू से करते हुए कहा की इसे भी सामंजस्य बैठाने में वक्त लगेगा।
जीएसटीएन में अगस्त 2017 के दौरान पंजीकृत हुए कारोबारियों और कंपोजिशन डीलरों को छोड़ दें तो जुलाई महीने के लिए कुल 59.57 लाख कारोबारियों या फर्मो द्वारा रिटर्न दाखिल होना जरूरी था। 29 अगस्त 2017 की सुबह दस बजे तक 38.38 लाख रिटर्न दाखिल हुए यानी 64.42 फीसदी कारोबारियों ने जुलाई के लिए रिटर्न दाखिल किया और जुलाई महीने के लिए 29 अगस्त 2017 की सुबह दस बजे तक सरकार के पास जीएसटी मद में कुल 92283 करोड़ रुपये जमा हुए हैं।
इस राशि में सीजीएसटी मद में 14894 करोड़ रुपये, एसजीएसटी मद में 22722 करोड़ रुपये, आईजीएसटी मद में 47469 करोड़ रुपये और सेस के मद में 7198 करोड़ रुपये आए। जीएसटी से पहले केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर विभाग और राज्यों के वाणिज्यिक कर विभाग में कुल 72.33 लाख करदाता पंजीकृत थे। इनमें से 58.53 लाख करदाताओं ने पूर्ण रूप से अपना माइग्रेशन जीएसटीएन में करवा लिया जबकि 13.80 लाख करदाताओं की माइग्रेशन की प्रक्रिया में कुछ काम अभी शेष है। 29 अगस्त 2017 की सुबह 10 बजे तक कुल 18.83 लाख नए करदाताओं ने जीएसटीएन में पंजीकरण करवाया है।


केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने रियल इस्टेट सेक्टर के लिए NAREDCO की तरफ से आयोजित एक समारोह में बोलते हुए कहा कि GST को समझने में थोड़ा वक्त लगेगा, लेकिन थोड़े समय के बाद यह सभी लोगों को समझ में आने लगेगा। जीएसटी देश के लिए नया पुल है इसे हम इसलिए लाए हैं कि देश सही दिशा में बढ़े। सरकार ने देश की तरक्की के लिए इसे लागू किया है। उन्होंने GST की तुलना घर में आई उस नई बहू के साथ की है, जिसे घर के अन्य सदस्यों के साथ सामंजस्य बैठाने में वक्त लगता है।
मेघवाल ने कहा कि जीएसटी के लागू होने के बाद से देश में करीब 17 प्रकार के इनडायरेक्ट टैक्स और कई सेस खत्म हो गए हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी के लागू होने के बाद से अगर किसी तरह की दिक्कत आ रही है तो फिर सीधे सरकार से बातचीत करें। जीएसटी से सभी को फायदा मिलेगा। देश 2017 को बड़े आर्थिक सुधारों के लिए याद रखेगा और अभी भी सरकार कई सारे कदम उठा रही है, जो लोगों को काफी सहुलियत दे रहे हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *