दिल्ली कांग्रेस के पांच पूर्व मुस्लिम विधायकों ने मांग की है कि पार्टी को दिल्ली की कम से कम एक सीट पर मुस्लिम उम्मीदवार उतारना चाहिए. इसके लिए दिल्ली कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हारून यूसुफ का नाम भी आगे बढ़ाया गया है. ज्ञात है कि कांग्रेस और भाजपा ने यहाँ अभी तक अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित नहीं किये हैं.
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लिखे पत्र में पांच पूर्व विधायकों हारून यूसुफ, मतीन अहमद, शोएब इकबाल, हसन अहमद और आसिफ मोहम्मद खान ने चांदनी चौक या उत्तर पूर्व दिल्ली लोकसभा सीट से किसी मुस्लिम नेता को टिकट देने की मांग की है. इनमें से तीन नेता हारून यूसुफ, मतीन अहमद और शोएब इकबाल पांच बार दिल्ली में विधायक रह चुके हैं. जबकि हसन अहमद और आसिफ मोहम्मद खान भी दो बार दिल्ली विधानसभा का चुनाव जीत चुके हैं.
पार्टी के सामने मुस्लिम नेताओं की नाराजगी उम्मीदवारों के नाम के ऐलान से कुछ ही समय पूर्व सामने आई है. दिल्ली में 16 अप्रैल से नामांकन भरे जाने हैं और सातों सीटों पर 12 मई को मतदान होना है. अभी सिर्फ आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में अपने उम्मीदवारों की घोषणा की है. आप के साथ गठबंधन के मुद्दे पर दो हिस्सों में बंटी दिल्ली कांग्रेस के सामने यह नयी मुसीबत आ गयी है, जिसने उसकी चिंता बढ़ा दी है. वैसे भी राहुल गाँधी ने आज खुलासा किया कि हम आप को चार सीटें दे रहे थे पर अरविन्द केजरीवाल ने यूटर्न ले लिया. इसपर पलटवार करते हुए आप ने कहा कि जिस पार्टी का दिल्ली में एक भी विधायक नहीं है वो तीन सीट मांग रही है और पंजाब तथा हरियाणा में आप को एक भी सीट नहीं देना चाहती. असल में कांग्रेस गठबंधन के सिर्फ प्रचार कर रही है.
पार्टी अध्यक्ष को लिखे पत्र में कांग्रेस के इन मुस्लिम नेताओं ने स्पष्ट किया है कि मुस्लिम वोटों की संख्या, पांचो मुस्लिम नेताओं के जीतने के ट्रैक रिकॉर्ड और उनके पार्टी में योगदान को देखते हुए किसी एक को चांदनी चौक या उत्तर पूर्व दिल्ली संसदीय क्षेत्र से टिकट दिया ही जाना चाहिए. क्योंकि पांचों नेता मुसलमानों सहित अन्य समुदायों में भी बहुत लोकप्रिय तथा सक्रिय हैं. उन्होंने इस मुद्दे पर दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित से मुलाकात भी की है. मतीन अहमद ने मुलाकात के बाद कहा कि दीक्षित ने हमारी मांग पर विचार करने का वादा किया है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *