बम-बम, बम भोले और बोल बम के नारों के बीच बाबा गरीबनाथ पर जल अर्पण करने के लिए मुजफ्फरपुर जा रहे कांवरियों के लिए पर्यटन विभाग और वैशाली जिला प्रशासन द्वारा भगवानपुर अड्डा चौक के समीप स्थित शिव मंदिर प्रांगण में लगाए गए कांवरिया शिविर में विभिन्न कलाकारों द्वारा शिव भजनों और भक्ति गीतों की ऐसी वर्षा हुई कि सभी कांवरिया भक्ति की बारिश में भींग गए. बाबा नगरिया दूर है, जाना जरूर है, बोल रहे तमाम भक्तगण कुछ देर के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का लुत्फ उठाने के लिए शिविर में रुकने को विवश हो गये.
बिहार की प्रसिद्ध लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत ने अपनी सुमधुर आवाज में एक के बाद एक कई बेहतरीन प्रस्तुतियां देकर कांवरिया भक्तों का मन मोह लिया. कैलाश पर्वत पर निवास करने वाले देवों के देव महादेव की महिमा का बखान करते हुए उन्होंने कई गीत गाए. सावन के महीने में बाबा गरीबनाथ के दर्शन से मिलने वाले विशेष आशीर्वाद हेतु सबको बाबा नगरिया चलने के लिए प्रेरित करते हुए उन्होंने ‘भक्ति जगाकर के मन में ओढ़ ला केसरिया चला हो सखिया, शिव बाबा के नगरिया चला हो सखिया’ गीत पेश किया. उन्होंने “भोला के देखेला बेकल भइले जियरा, का ले के शिव के मनाई हो शिव मानत नाहीं, भांग धतूरा कहां पाई हो शिव मानत नाहीं, डिम डिम डमरू बजावे ला हमार जोगिया, बाबा बैजनाथ हम आयल छी भिखरिया आहाँ के दुअरिया ना” जैसे गीतों की प्रस्तुति करके शिव भक्तों का मन मोह लिया.
नीतू कुमारी द्वारा प्रस्तुत शिव विवाह गीत अपने महादेव डमरू बजावे ला भूत पिशाच सब नाच करेला को भी खूब पसंद किया गया. उन्होंने गंगा गीत मांगी ला हम वरदान हे गंगा मैया मांगी ला हम वरदान, गंगोत्री से निकलल गंगा मैया, जग के करेला उद्धार और देवी गीत जय जय भैरवी भी प्रस्तुत किया जिस पर भक्तजन झूमते रहे. सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान कैसियो पर राजन कुमार, नाल पर भोला कुमार, और पैड पर सोनल कुमार ने लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत के साथ संगत किया. सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति के दौरान बड़ी संख्या में कावड़िया भक्तगण और स्थानीय श्रद्धालु मौजूद रहे और भक्ति गीतों पर झूमते रहे.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *