नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूर रानी झांसी रोड पर रिहाइशी इलाके में चल रही फैक्ट्री में रविवार सुबह लगभग साढ़े पाँच बजे लगी आग में 44 लोगों की मौत हो गई जबकि लगभग उतने ही जख्मी हो गये. सभी मृतक एवं घायल तब फैक्ट्री के अंदर ही सो रहे थे. 4 मंजिला रिहायशी मकान में चल रही इस फैक्ट्री में आग लगने की प्रारम्भिक वजह शॉर्ट सर्किट बताई गयी है. अधिकांश मौतें दम घुटने से हुयी, मृतकों में ज्यादातर बिहारी हैं. मकान मालिक मोहम्मद रेहान और उसके मैनेजर फुरकान के खिलाफ गैरइरादन हत्या के तहत मामला दर्ज कर दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. जाँच का जिम्मा क्राइम ब्रांच को सौंपा गया है.
दिल्ली के रानी झांसी रोड पर अनाज मंडी स्थित इस फैक्ट्री में लगी भीषण आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 30 गाड़ियों को मशक्कत करनी पड़ी. अग्निशमन कर्मियों ने पचास से अधिक लोगों को मरने से बचाने में सफलता पायी. NDR की टीम भी समय से घटना स्थल पर पहुँची. इस इलाके में 24 घंटे के अंदर आग लगने की यह दूसरी घटना है, शनिवार को प्लास्टिक की पिचकारी बनाने वाली एक फैक्ट्री में आग लगी थी. दिल्ली में उपहार सिनेमा हादसे के 22 साल बाद इतना बड़ा अग्निकांड हुआ है, तब 13 जून 1997 को उपहार में लगी आग में 59 लोगों की मौत हुई थी.
फैक्ट्री में स्कूल बैग और खिलौने बनाए जाते थे. अग्निशमन विभाग के अनुसार फैक्ट्री में बैग्स, बॉटल और अन्य सामान भारी मात्रा में रखा हुआ था. प्लास्टिक मेटेरियल होने की वजह से धुआं काफी ज्यादा हुआ और दम घुटने से अधिकांश लोगों की जान गयी. बिल्डिंग की उपरी मंजिल पर शार्ट सर्किट से जो आग लगी वो बिल्डिंग के आंतरिक बिजली सिस्टम में लगी. ग्राउंड फ्लोर पर लगा बिजली का मीटर पूरी तरह सुरक्षित है. बिल्डिंग के सामने से गुजर रहे तार और पोल भी पूरी तरह सुरक्षित हैं. अगर मीटर से आग लगती तो ग्राउंड फ्लोर पर लगती, न कि सीधे उपरी मंजिल पर. अग्निशमन विभाग के कर्मी जब वहाँ पहुंचे तो बिल्डिंग का लोहे का दरवाजा बाहर से लॉक था. अंदर से लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे. हम सभी दरवाजा तोड़ कर अंदर गए, जहां काफी जहरीला धुआं भरा हुआ था.
अवैध तरीके से रिहायशी इलाके में चल रही फैक्ट्री के अगल- बगल के पुरे इलाके में छोटी- छोटी अवैध फैक्ट्रियों की भरमार है, जिन्हें न तो NOC मिली हुयी है और न ही उनमें आग बुझाने के इंतजाम किए गए हैं. घनी आबादी वाले आवासीय इलाके में स्थित बिल्डिंग के आसपास इमारतों के बीच तथा बिल्डिंग के अंदर काफी संकरी जगह थी. उपर की मंजिल में लगी आग का पहले तो लोगों को पता ही नहीं चल पाया. जबतक लोगों को समझ आया कि कहीं आग लगी है, तबतक बहुत देर हो चुकी थी, आग और धुआं चारों ओर फैल गया था. जो लोग जहां थे वो वहीं फंस गए क्योंकि धुआं लगातार बढ़ता जा रहा था. तड़के आग लगने के बाद फरार मकान मालिक मोहम्मद रेहान और उसके मैनेजर फुरकान को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. रेहान के भाई को पुलिस पहले ही हिरासत में ले चुकी है. इनके अलावे कुछ अन्य लोगों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ किया जा रहा है.



loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *