गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाने से नाराज़ कांग्रेस लगातार राज्यसभा एवं लोकसभा में हंगामा करते हुए सरकार से उनकी SPG सुरक्षा बहाल करने की मांग कर रही है, इसी बीच मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने सरकार के फैसले के खिलाफ दायर याचिका खारिज करते हुए याचिकाकर्ता पर 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगा दिया है.
एक वकील उमेश बोहरे ने गांधी परिवार से SPG सुरक्षा हटाए जाने के फैसले के खिलाफ PMO, गृह मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय सहित 6 को पार्टी बनाते हुए मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच में जनहित याचिका दायर की थी. कोर्ट ने वकील को खरीखोटी सुनाते हुए कहा कि यह याचिका सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए लगाई गई है. कोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए याचिकाकर्ता पर 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगा दिया है.
केंद्र सरकार ने पिछले दिनों सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से SPG सुरक्षा वापस ले ली है. केंद्र सरकार के निर्णय के खिलाफ कांग्रेस राज्यसभा में लगातार विरोध प्रदर्शित करते हुए उनकी SPG सुरक्षा बहाल करने की मांग कर रही है. पार्टी का कहना है कि सरकार को पक्षपातपूर्ण राजनीति से ऊपर उठकर इन नेताओं की SPG सुरक्षा बहाल करनी चाहिए.
SPG सुरक्षा वापस लिए जाने के विरोध में शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही आरंभ होते ही लोकसभा में कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए. जिसके बाद डीएमके के सदस्य भी आसन के समीप पहुंच कर नारेबाजी करने लगे थे.
ज्ञात है कि SPG सुरक्षा देश की सबसे उच्च स्तर की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेता है. यह कोई हमलावर फोर्स नहीं सिर्फ रक्षात्मक बल है. इसके जवानों का चुनाव CRPF, BSF, ITBP और CISF के चुनिंदा जवानों में से होता है. SPG के जवानों के पास नवीनतम तकनीक के हथियार यथा Fully automated FNF-2000 की assault rifles और पिस्टल रहती है. सेफ्टी के लिए बुलेटप्रुफ जैकेट्स पहनने वाले ये जवान किसी भी तरह के खतरे को भांप सकने के लिए एक खास तरह का चश्मा लगाते हैं.
राज्यसभा में भाजपा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने UPA सरकार के दौरान कई लोगों का सिक्यॉरिटी कवर घटाए जाने की बात करते हुए कहा कि एक तरफ तो इंदिरा और राजीव की हत्या का हवाला देकर गांधी परिवार के लिए हाई सिक्यॉरिटी की मांग की जाती है और दूसरी तरफ खुद सोनिया गांधी राजीव गाँधी के हत्यारे की सजा कम करवाती हैं. हाँलाकि सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि इसका ताजा मुद्दे से कोई लेना-देना नहीं है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *