ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी कैबिनेट में भारतीय मूल की प्रीति पटेल को गृह मंत्री बनाया है. प्रीति ब्रिटेन की गृह मंत्री बनने वाली पहली भारतीय हैं. वो बोरिस अभियान की प्रमुख सदस्य रही हैं. इनके अलावे भारतीय मूल के दो अन्य सांसदों को भी बड़ी जिम्‍मेदारियां दी गईं हैं.
कैबिनेट में शामिल होने से ठीक पहले 47 वर्षीय गुजराती मूल की नेता प्रीति ने कहा कि महत्वपूर्ण होगा कि कैबिनेट आधुनिक ब्रिटेन और आधुनिक कंजरवेटिव पार्टी को प्रदर्शित करे. प्रीति को ब्रिटेन में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्साही प्रशंसक के रूप में जाना जाता है. प्रीति ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों के सभी प्रमुख कार्यक्रमों में अतिथि होती हैं.
प्रीति वर्ष 2010 में विटहैम में सांसद चुनी गई, 2015 और 2017 में भी उन्होंने इसी सीट पर जीत दर्ज की. 2014 से ही जूनियर मिनिस्टरियल पोस्ट, ट्रेजरी मिनिस्टर, 2015 में रोजगार राज्यमंत्री थीं. ब्रिटेन के यूरोपीय संघ (EU) से बाहर होने के पक्ष में जून 2016 के जनमत संग्रह की अगुआई में प्रीति पटेल ने वोट लीव अभियान चलाया था. इन्हें दो वर्ष पूर्व एक विवाद के चलते टरीजा सरकार से इस्तीफा देना पड़ा था. नवंबर 2017 में प्रीति ने इजरायल के अधिकारियों के साथ बैठक किया था, जिसके बाद उन्हें अंतरराष्ट्रीय विकास मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा.
प्रीति ने ब्रिटेन की गृह मंत्री बनने के बाद कहा कि- ‘मैं अपने देश और अपने लोगों को सुरक्षित रखने के लिए तथा अपराध के संकट से लड़ने के लिए अपनी शक्ति भर सब कुछ करूंगी. मैं अब उन चुनौतियों की प्रतीक्षा कर रही हूँ जो आगे हैं. उन्होंने आगे कहा कि बोरिस जॉनसन देश के भविष्य के लिए एक नई दृष्टि को लागू करेंगे.
भारत और ब्रिटेन के संबंधों पर बोलते हुए कहा कि ‘बिल्डिंग ब्रिज: रीवाकेनिंग यूके-इंडिया संबंधों’ के संदर्भ में पिछले महीने जारी की गई भारत की पहली रिपोर्ट यूके और भारत के बीच संबंधों को फिर से नए आयाम देने के लिए कह रही है.
प्रीति पटेल के माता पिता अंजना और सुशील पटेल मूलतः गुजरात के रहने वाले हैं. युगांडा गए पर 1960 के दशक में राष्ट्रपति ईदी अमीन द्वारा एशियाई लोगों को निष्कासित करने की घोषणा करने पर ब्रिटेन चले गए और हर्टफोर्डशायर में बस गए. उन्होंने इंग्लैंड में समाचार-पत्रों की एक श्रृंखला स्थापित की. 29 मार्च 1972 को जन्मीं पटेल की शादी 2004 से एलेक्स सॉयर से हुई. जो स्टॉक एक्सचेंज नैस्डैक में विपणन सलाहकार हैं. इनको एक बेटा फ्रेडी है, जिसका जन्म अगस्त 2008 में हुआ है.
शुरुआत में जब जॉन मेजर प्रधानमंत्री थे तब प्रीति पटेल रेफरेंडम पार्टी से जुड़ी थीं. 2005 के आम चुनावों में वह नॉटिंघम उत्तर के लिए कंजर्वेटिव उम्मीदवार के रूप में खड़ी हुयी पर लेबर सांसद ग्राहम एलेन से हार गईं. पटेल को पार्टी नेता डेविड कैमरन ने एक आशाजनक उम्मीदवार के रूप में पहचाना और कंजर्वेटिव संभावित संसदीय उम्मीदवारों के “ए-लिस्ट” में जगह दिया.
इंफोसिस फाउंडर नारायण मूर्ति के दामाद भारतीय मूल के सांसद ऋषि सुनक के अलावे आलोक शर्मा को भी ब्रिटेन के कैबिनेट में जगह मिली है. ऑक्सफोर्ड से पढ़े 49 वर्षीय ऋषि सुनक के पिता डॉक्टर थे और मां दवा की दुकान चलाती थीं. इनके पास सोशल केयर समेत कई जिम्मेदारियां हैं.
भारतीय मूल के एक अन्य सांसद आलोक शर्मा अंतरराष्ट्रीय विकास विभाग में राज्य मंत्री बनाये गये हैं. शर्मा का जन्म UP के आगरा में हुआ था. जो पांच वर्ष की उम्र में ही अपने माता-पिता के साथ ब्रिटेन चले गए थे.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *