भाजपा ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ के लिए 75 संकल्प लेते हुए सोमवार को अपना घोषणापत्र ‘संकल्प पत्र’ नाम से जारी किया. भाजपा के इन चुनावी वादों में किसानों, व्यापारियों, मध्य वर्ग को साधने की कवायद के साथ ही राम मंदिर, कश्मीर में धारा 370 व 35A के संदर्भ में संकल्प करते हुए धर्म और राष्ट्रवाद के मुद्दे को नहीं छोड़ने का अपना इरादा भी व्यक्त किया. पार्टी ने मोदी सरकार के पिछले 5 साल के कार्यकाल के आधार पर इन संकल्पों को पूरा कर लक्ष्य प्राप्त करने का विश्वास दिलाया.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह, घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष सह गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली एवं पार्टी के संगठन मंत्री रामलाल ने भाजपा का 75 सूत्रीय संकल्प पत्र जारी किया। जिसमें राष्ट्रवाद के प्रति पूरी प्रतिबद्धता, राम मंदिर के लिए संभावनाओं को तलाशने, जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35 ए समाप्त करने, अवैध घुसपैठ पूरी तरह रोकने तथा समान आचार संहीता लागू करने का संकल्प व्यक्त किया गया. पार्टी ने सीमांत किसानों एवं छोटे दुकानदारों को पेंशन देने, देश के सभी किसानों को 6000 रुपये सालाना देने, एक लाख तक के किसान क्रेडिट कार्ड को ब्याज मुक्त करने, राष्ट्रीय व्यापार आयोग का गठन करने, हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज या परास्नातक मेडिकल कॉलेज खोलने, 200 नए केंद्रीय और नवोदय विद्यालयों का निर्माण करने, 50 शहरों में मेट्रो नेटवर्क लाने, उद्यमियों को बिना सिक्योरिटी के 50 लाख रु का ऋण देने के साथ ही सार्वजनिक क्षेत्र में सेवा आपूर्ति का अधिकार देने का संकल्प व्यक्त किया.
इस अवसर पर NDA सरकार द्वारा पिछले 5 वर्षों में देश के चतुर्दिक विकास की दिशा में किये गए प्रयासों की चर्चा करते हुए वक्ताओं ने सरकार की उपलब्धियों को भी गिनवाया. संकल्प पत्र में कहा गया है कि मंदिर के जल्द निर्माण के लिए संविधान के दायरे में सभी संभावनाओं को तलाशा जाएगा. जम्मू-कश्मीर के गैर स्थाई निवासियों और महिलाओं के लिए धारा 35A को भेदभावपूर्ण बताते हुए उसे हटाने की कोशिश करने तथा धारा 370 पर अपने दृष्टिकोण को दोहराया.
2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने, सभी किसानों को 6 हजार रुपये देने, सभी छोटे और सीमांत किसानों को 60 साल के बाद पेंशन की सुविधा देने, एक लाख रुपये तक के ब्याजमुक्त किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा देने, देश के छोटे दुकानदारों को 60 साल के बाद पेंशन की सुविधा, प्रत्येक परिवार के लिए पक्का मकान और अधिक से अधिक ग्रामीण परिवारों को LPG गैस सिलिंडर देने, आयुष्मान भारत के तहत डेढ़ लाख हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोलने का संकल्प लिया गया.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *