BCCI : महिला क्रिकेट टीम के लिये भव्य सम्मान समारोह में हर खिलाड़ी को 50 लाख देगी

 145 


विश्व कप फाइनल में इंग्लैंड से हारने के बावजूद लोगों का दिल जीतने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिये BCCI भव्य सम्मान समारोह के आयोजन की तैयारी में है. जिसमें सभी खिलाड़ियों को 50-50 लाख रूपये का चेक और सहयोगी स्टाफ को 25-25 लाख रूपये के चेक दिये जायेंगे. सम्मान समारोह की तिथि और स्थान अभी तय नहीं है. यह सभी खिलाड़ियों की उपलब्धता देखकर तय किया जायेगा.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सभी खिलाड़ियों के मुलाकात कराने के भी प्रयास हो रहे हैं. BCCI के एक अधिकारी के अनुसार वे फाइनल हार गयीं लेकिन अपने प्रदर्शन से देश को गौरवान्वित किया है. BCCI टीम के लिये एक सम्मान समारोह का आयोजन करेगी और प्रधानमंत्री से भी उनकी मुलाकात के प्रयास किये जा रहे हैं.
उन्होंने कहा कहा कि BCCI और COA का मानना है कि महिला क्रिकेट की इस लोकप्रियता के मद्देनजर महिला IPL का आयोजन भी किया जा सकता है. फिलहाल फोकस अगले साल होने वाले टी20 विश्व कप पर है.


मध्यप्रदेश सरकार ने भी ICC महिला विश्व कप क्रिकेट में उपविजेता रही भारतीय टीम को 50 लाख रूपये पुरस्कार देने का ऐलान किया. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अनुसार यह पुरस्कार टीम को भोपाल में एक भव्य सम्मान समारोह आयोजित कर दिया जायेगा.
चौहान ने ट्विट किया कि- मध्यप्रदेश सरकार विश्व कप में खेलने वाली महिला क्रिकेट टीम का भोपाल में सम्मानीत करेगी और टीम को 50 लाख रूपये की सम्मान निधि भेंट की जायेगी.
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ICC महिला विश्व कप में शानदार प्रदर्शन करने वाली बल्लेबाज हरमनप्रीत सिंह को पांच लाख रुपये के नकद पुरस्कार के साथ ही पंजाब पुलिस में बतौर DSP शामिल होने का प्रस्ताव दिया है. अमरिंदर ने विश्व कप फाइनल के बाद एक बयान में कहा कि इस खिलाड़ी ने अपने शानदार प्रदर्शन से टीम इंडिया को सेमीफाइनल में जीत दिलाई और फाइनल में इंग्लैंड के साथ कड़ा मुकाबला कर बेहद करीबी अंतर से भारतीय टीम को दूसरा स्थान दिलाया.
पंजाब के मोगा जिले की हरमनप्रीत ने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ महज 115 गेंदों में नाबाद 171 रन बनाकर भारतीय महिला क्रिकेट टीम को विश्व कप के फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी.

रविवार को इंगलैंड के खिलाफ खेले गए फाइनल में भारतीय टीम नौ रन से हार गई. लेकिन देश भर में महिलाओं के प्रदर्शन की तारीफ हो रही है. भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने हार के बाद कहा है कि इंग्लैंड के खिलाफ रन का पीछा करते हुए टीम दबाव में आ गई थी. हर कोई घबराया हुआ था और शायद यही हमारी हार का कारण है. लेकिन यहां तक पहुंचने पर टीम को गर्व है. इंग्लैंड के लिए भी यह आसान नहीं था लेकिन उन्हें अपना जज्बा बनाए रखने का श्रेय जाता है.
उन्होंने कहा कि मैच में एक समय ऐसा भी था जब हम बराबरी पर थे, बढ़त ले चुके थे लेकिन हम घबरा गए, जिससे हार हुई. मुझे अपनी लड़कियों पर काफी गर्व है. पूरे टुर्नामेंट में किसी भी टीम के लिए उन्होंने मैच को आसान नहीं होने दिया. हमने टूर्नामेंट में काफी अच्छा प्रदर्शन किया. टीम के सभी यंगस्टर्स ने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया. झूलन गोस्वामी द्वारा तीन विकेट लेकर इंग्लैंड को 228/7 पर ही रोकने की चर्चा करते हुए मिताली ने कहा कि झूलन अनुभवी गेंदबाज हैं और उन्होंने जरूरत के समय हमेशा ही अच्छा प्रदर्शन किया है.
उन्होंने महिला क्रिकेट फाइनल देखने के लिए दर्शकों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि यह महिला क्रिकेटरों के हौसले के लिए बड़ी बात है. निश्चित रूप से यह खिलाड़ियों की मदद करेगा. मिताली राज ने कहा है कि महिलाओं के लिए IPL शुरू करने का यह सही समय है. भारत में महिला बिग बैश लीग जैसी लीग की शुरुआत होनी चाहिए. इससे महिला क्रिकेट खिलाड़ियों को अच्छे प्रदर्शन का अनुभव मिलेगा और वे अपने खेल में सुधार कर पाएंगी. डब्ल्यूबीबीएल में मिले अनुभव से हमारी टीम की दो खिलाड़ियों स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर के खेल में बहुत सुधार हुआ है. अगर अधिक से अधिक खिलाड़ी इस तरह की लीग में हिस्सा लेंगी, तो इससे उन्हें अच्छा अनुभव हासिल होगा, जो टीम के खेल में सुधार करेगा.
यह दूसरा अवसर है जबकि भारतीय महिला टीम विश्व कप के फाइनल में हारी. इससे पहले 2005 में आस्ट्रेलिया ने उसे विश्व चैंपियन बनने से रोका था. इसके पूर्व इंग्लैंड इस टूर्नामेंट में तीन बार खिताबी जीत हासिल कर चुकी थी और वह सातवीं बार टूर्नामेंट के फाइनल में पहुँची थी. इंग्लैंड टीम इंडिया को हराकर चौथी बार विश्वविजेता बनने में कामयाब हुई.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *