अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उकसाने वाली बयानबाजी नहीं होनी चाहिए. केंद्र सरकार देश भर में किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए बेहद सजग है और इसके मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जा रही है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले का समय नजदीक आते ही पुरे देश में कानून-व्यवस्था चुस्त- दुरुस्त रखने में लगी है.
सूत्रों के अनुसार PM ने मंत्रिपरिषद की बैठक में अयोध्या विवाद पर आने वाले फैसले को लेकर देश में शांति और सौहार्द्र बनाए रखने में सभी से सहयोग करने की अपील करने के साथ ही अपने मंत्रियों को सलाह दी कि उनके द्वारा बेवजह बयानबाजी नहीं होनी चाहिए. PM ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले NDA के तमाम मंत्रियों और सांसदों को अपने- अपने निर्वाचन क्षेत्रों में रहने तथा शांति-व्यवस्था बनाए रखने में सहभागी बनने का निर्देश दिया.
अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले उधर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने भी मुस्लिम धर्मगुरुओं के साथ संपर्क अभियान शुरू कर दिया है. उनके साथ बैठकों का एकमात्र मकसद है कि फैसला कुछ भी आए सांप्रदायिक सौहार्द्र बना रहना चाहिए. RSS का शीर्ष नेतृत्व हर प्रदेश में इस तरह की बैठकें कर रहा है. इन बैठकों में RSS, BJP, मुस्लिम धर्मगुरुओं सहित नामचीन हस्तियां भाग लेंगीं.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *