असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) पश्चिम बंगाल विधानसभा का चुनाव लड़ेगी. पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और बंगाल इकाई प्रभारी असीम वकार ने यह जानकारी देते हुए कहा कि 2021 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में पार्टी अपने उम्मीदवार उतारेगी.
ज्ञात है कि पूर्व में ओवैसी की पार्टी ने पश्चिम बंगाल में कभी भी कोई चुनाव नहीं लड़ा है. यही नहीं बंगाल में पार्टी की कोई इकाई भी अभी तक कार्यरत नहीं है. बताया जाता है कि जल्द ही AIMIM के शीर्ष नेता बंगाल का दौरा करने वाले हैं. जिसके बाद वहाँ पार्टी की राज्य इकाई का गठन होगा.
असीम वकार ने अपने बयान में कहा- “ये सच है कि बंगाल में हम गिनी चुनी संख्या में हैं लेकिन कोई भी हमें छूने की हिम्मत नहीं कर सकते, हम एटम बम हैं.” उन्होंने वहाँ की CM ममता बनर्जी को संबोधित करते हुए ट्वीट किया कि- “दीदी आप हमें दोस्त समझें या दुश्मन, फैसला आपका है. हम उसका स्वागत करेंगे. हम बंगाल में विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे.”
लोकसभा चुनाव के समय AIMIM ने कोलकाता में एक कार्यक्रम करने के लिए मंच बुक किया था लेकिन अंतिम समय में नजरुल मंच ने इस कार्यक्रम के लिए मंच देने से मना कर दिया था. हाँलाकि किसी भी अधिकारी ने इसका कोई पुख्ता कारण नहीं बताया था. ये ऐसा सभागार है. जो राज्य सरकार के सूचना और संस्कृति विभाग के अधीन है.
राज्य सरकार के इस कदम के बाद दोनों पार्टियों के बीच खटास आ गई थी.
अब ओवैसी की पार्टी ने विधानसभा चुनाव में जब राज्य में ताल ठोकने की घोषणा कर दी है तो इससे अल्पसंख्यक वोटों में सेंध लगने की संभावना प्रबल हो गयी है. जो सत्तारूढ़ तृणमूल के लिए थोड़ा नुकसानदायक साबित हो सकता है.

भाजपा बंगाल इकाई के महासचिव सायंतन बसु ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि चुनावी समर के लिए AIMIM और TMC के बीच सौदेबाजी चल रही है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *