छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के वकील हनुमान प्रसाद अग्रवाल ने सुप्रीम कोर्ट में एक एफिडेविट दाखिल कर दावा किया कि वे भगवान श्रीराम के वंशज हैं. उन्होंने कहा कि जब हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि क्या कोई भगवान राम का वंशज है? इसकी जानकारी मुझे मिली तो मैंने इंटरनेट से साक्ष्य इकट्ठा करके एफिडेविट तैयार किया और इसे ही सुप्रीमकोर्ट में पेश किया है.
हनुमान प्रसाद अग्रवाल ने आगे कहा कि ‘भागवत’ में लिखा गया है कि अग्रवाल समुदाय के पूर्वज महाराजा अग्रसेन भगवान राम के बेटे कुश की 34वीं पीढ़ी के वंशज थे. आज सभी अग्रवाल महाराजा अग्रसेन के बेटे और पोते हैं ऐसे में ये सभी भगवान राम के वंशज हुए. मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम त्रेता युग के बाद इस कलयुग में भी चर्चाओं के केंद्र में बने हुए हैं. देश के गाँव- खलिहान से लेकर संसद और सुप्रीमकोर्ट तक भगवान राम आज सुर्खियों में हैं.
हनुमान प्रसाद अग्रवाल पहले व्यक्ति नहीं हैं जिन्होंने खुद को भगवान राम का वंशज होने का दावा किया है? इसके पहले राजस्थान के राजघराने ने अपने को भगवान राम का वंशज बताया. भाजपा सांसद अरविंद सिंह मेवाड़ ने खुद को भगवान राम का वंशज बताते हुए कहा कि मेरा परिवार भगवान श्रीराम का प्रत्यक्ष वंशज है. साथ ही उन्होंने कहा कि हम राम जन्मभूमि पर कोई दावा नहीं करते, हम चाहते हैं कि अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बने.
जयपुर राजघराने की सदस्या और भाजपा सांसद दीया कुमारी ने भी इसी प्रकार का दावा करते हुए कहा कि भगवान राम के वंशज दुनियाभर में है जिसमें मेरा परिवार भी शामिल है. मेरा परिवार भगवान राम के बेटे कुश के वंशज हैं.
सुप्रीम कोर्ट में फिलहाल रोजाना इस मामले पर सुनवाई चल रही है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *