एमसीडी चुनाव में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी के विधायकों और पार्टी के जमीनी कार्यकर्ताओं की बैठक में एमसीडी चुनाव में हार के लिए ईवीएम की बजाय मोदी लहर और जमीन पर पार्टी की अनुपस्थिति को ठहराया.
एमसीडी चुनाव में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी सुप्रीमो और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने घर पर विधायकों और पार्टी के जमीनी कार्यकर्ताओं के साथ हार के सभी पहलुओं पर विचार करने के लिए बैठक की.
अरविंद केजरीवाल समेत पार्टी के कई नेताओं ने हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा था, लेकिन गुरुवार को हुई बैठक में अधिकतर विधायकों ने हार के लिए ईवीएम की बजाय बड़ी वजह मोदी लहर और जमीन पर पार्टी की अनुपस्थिति को बताया.
विधायकों ने बैठक में अपनी बात रखते हुए कहा कि हार के लिए सिर्फ ईवीएम को जिम्मेदार ठहराना सही नहीं है. विधायकों का यह भी कहना रहा कि भाजपा ने जिस तरह से प्रधानमंत्री मोदी की लहर को बनाने की कोशिश की, वह भी एमसीडी में मिली हार का एक बड़ा कारण है.
बैठक में चर्चा के दौरान नेतृत्व ने यह भी माना कि पंजाब में मिली हार के बाद दिल्ली में नेताओं और कार्यकर्ताओं का मनोबल टूट गया था. जबकि नेताओं को उम्मीद थी कि पंजाब चुनाव जीतने के बाद दिल्ली में बड़े मनोबल के साथ निगम में जीत सुनिश्चित होगी, लेकिन पंजाब में मामला बिगड़ने का सीधा असर दिल्ली के एमसीडी चुनाव पर पड़ा. टूटे मनोबल के कारण जमीन पर आम आदमी पार्टी की अनुपस्थिति इस हार का एक बड़ा कारण रही है.

loading…



Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *