बिहार के दक्षिण पश्चिम रोहतास जिला की कैमूर पहाड़ी पर स्थित गुप्ता धाम से श्रद्धालुओं को लेकर लौट रहे एक ट्रैक्टर के पलट जाने से तीन श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि हादसे में लगभग बीस महिला- पुरुष घायल हो गये हैं.
सोमवार को प्रातः दर्शनार्थियों से भरा एक ट्रैक्टर कैमूर जिला के अधौरा घाटी में पलट गया. जिसमें यूपी के मगरदाहा निवासी मुराहु बिंद की पत्नी रीता देवी और रामदास बिंद की पत्नी नानकी देवी एवं नंदलाल बिंद की मौके पर ही मौत हो गई. उत्तरप्रदेश के मगरदाहा गांव के लोग ट्रैक्टर से रोहतास जिले के गुप्ता धाम में सरस्वती पूजा पर दर्शन- पूजन को गए थे. वहाँ से वापसी में ट्रैक्टर अधौरा घाटी में पलट गयी. अधौरा पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लिया और सभी घायलों को समीप के अस्पताल पहुंचाया, जबकि गंभीर रूप से घायल लोगों को भभुआ सदर अस्पताल पहुंचाया.
ज्ञात है कि गुप्ता धाम तक जाने का कई रास्ता है, पर सारे रास्ते नाम मात्र के रास्ते हैं. श्रद्धालु उन्हीं मार्गों से अपने जान की बाज़ी लगाकर किसी न किसी प्रकार वहाँ तक जाते हैं. गुप्ता धाम जाने वाले श्रद्धालुओं को तीस वर्ष पूर्व 1989 में एक बड़े हादसे को झेलना पड़ा था. तब धाम के अंदर आक्सीजन की कमी के फलस्वरूप भगदड़ मच गयी थी, लगभग एक दर्जन लोगों की तब मृत्यु हुयी थी और बड़ी संख्या में लोग घायल हुए थे. तब से प्रशासन ने वहाँ कई प्रकार की सुविधायें मुहैया कराई है. गुफा के अंदर प्रत्येक बसंत पंचमी, महाशिवरात्रि, श्रावण माह में लाईट, आक्सीजन सफाई आदि की व्यवस्था की जाती है. परन्तु वहाँ जाने वाले श्रद्धालुओं की सबसे बड़ी समस्या है वहाँ तक आना- जाना.
गुप्ता धाम जाने के तमाम रास्ते काफी खतरनाक हैं, वहाँ तक पहुंचने के लिए एक अदद सडक बनाये जाने की मांग दशकों पुरानी है, पर आजतक वो पूरी नहीं हो पायी.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *