बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि 2019 के आम चुनाव में जनता प्रांतीय दलों के स्वार्थी गठबंधन के किसी मजबूर आदमी को नहीं, बल्कि बड़े और त्वरित फैसले करने वाले मजबूत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही फिर से देश की सेवा का अवसर देगी.
सुमो ने ट्वीट किया है कि UP में सपा-बसपा ने कांग्रेस को अकेला छोड़ दिया. पश्चिम बंगाल में दीदी और केरल में कामरेड राहुल गांधी को घास नहीं डाल रहे. तेलंगाना के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस-तेलगू देशम गठबंधन को जनता सिरे से नकार चुकी और बिहार में जनाधारहीन कांग्रेस को कोई पूछ नहीं रहा. एकजुट राजग के खिलाफ गठबंधन तो बनने से पहले ही बिखर गया है और जिस कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की कमजोर सरकार चल भी रही है, वहां एक्सीडेंटल CM कुमारस्वामी ने स्वीकार किया है कि उनकी स्थिति क्लर्क जैसी है. 2019 के आम चुनाव में जनता प्रांतीय दलों के स्वार्थी गठबंधन के किसी मजबूर आदमी को नहीं, बल्कि बड़े और त्वरित फैसले करने वाले मजबूत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही फिर देश की सेवा का अवसर देगी.
सुशील मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि ‘UP की बुआजी ने वजूद बचाने के लिए भले ही सपा के हमले और गेस्टहाउस कांड के जहर का घूंट पीकर सब कुछ भुला दिया हो और भतीजा उनका जन्मदिन मनाकर आल इज वेल का संदेश दे रहे हों. लेकिन फिर भी सपा-बसपा यह नहीं भूले हैं कि 2015 में बिहार में महागठबंधन बनाते समय कैसे लालू प्रसाद ने समाजवादी पार्टी का अपमान किया था. अखिलेश को यह भी याद होगा कि उनके पिता को प्रधानमंत्री बनने से किसने रोका था? तेजस्वी यादव के फूल लेते समय बुआ-भतीजे को पुराने कांटे चुभ गए, इसलिए दोनों ने उनसे गठबंधन की बात ही नहीं की.
आज दिनभर पटना में मकर संक्रांति के नाम पर दही चूड़ा के भोज का दौर चलता रहा. श्री राम विलास पासवान के आवास पर आयोजित भोज में मुख्यमंत्री के साथ उपमुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सहित पुरे NDA कुनबे का जमावड़ा रहा. तो वहीं जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, केन्द्रीय मंत्री अश्वनी चौबे और रजनीश कुमार के यहां भी आयोजित भोज आयोजित था, कमोबेश सभी NDA नेता सारे भोज में उपस्थित रहे.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *