भारत में दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ के बाद अब भगवान शिव की सबसे ऊंची मूर्ति बनाई जा रही है। भगवान शिव की इस सबसे ऊंची मूर्ति का निर्माण राजस्थान में उदयपुर के नजदीक श्रीनाथद्वारा में हो रहा है। अगले साल मार्च में इस मूर्ति का अनावरण किए जाने की संभाना है। दुनिया की सबसे ऊंची इस शिव मूर्ति की ऊंचाई 351 फीट है। इस वक्त दुनिया में सबसे ऊंची शिव मूर्ति नेपाल के कैलाशनाथ मंदिर में है। इस मूर्ति की ऊंचाई 143 फीट है।
शिव मूर्ति को ‘मिराज ग्रुप’ बना रहा है। सीमेंट और कंकरीट से बन रही मूर्ति का 85 प्रतिशत काम पूरा हो गया है। इसमें 3000 टन स्टील का का इस्तेमाल होगा। मूर्ति का वजन 30 हजार टन होगा। आधार के साथ प्रतिमा की ऊंचाई 351 फीट होगी। वहीं, त्रिशूल की लंबाई 315 फीट होगी। मूर्ति में चार लिफ्ट और तीन सीढ़ियां होंगी। जिसके जरिए पर्यटक मूर्ति को देख सकेंगे। पर्यटक 280 फीट की ऊंचाई तक जा सकेंगे।


गौरतलब है कि 182 मीटर ऊंची सरदार वल्लभभाई पटेल की ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का अनावरण 31 अक्टूबर को किया गया था। 2,389 करोड़ रुपए की लागत से नर्मदा नदी के साधु बेट द्वीप पर बने पूर्व उपप्रधानमंत्री की प्रतिमा का अनावरण करते हुए मोदी ने इसे दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा बताया, जो चीन के स्प्रिंग टेम्पल बुद्धा की प्रतिमा (153 मीटर) से लगभग 29 मीटर ऊंची और अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी (93 मीटर) से लगभग दोगुनी है।

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *