जापान के दो दिवसीय दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यामांशी प्रांत के होटल माउंट फूजी में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाकात के दौरान उन्हें खास तोहफा भी दिया.
आबे टोक्यो से 110 किलोमीटर दूर स्थित यामांशी प्रांत के होटल माउंट फूजी में छुट्टियां मनाते हैं. विदेश सचिव विजय गोखले के मुताबिक पीएम मोदी आबे के इस छुट्टी मनाने वाले घर में आने वाले दुनिया के पहले नेता हैं. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके सबसे “विश्वसनीय” दोस्तों में से एक हैं और भारतीय नेता के साथ मिलकर वह हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को खुला एवं मुक्त बनाने के लिए द्विपक्षीय सहयोग मजबूत करना चाहेंगे.
PM मोदी ने PM शिंजो आबे को गुलाबी और पीले स्फटिक से बने दो कटोरे भेंट किए. राजस्थान में पाए जाने वाले गुलाबी और पीले स्फटिक से दोनों कटोरों को गुजरात के खंभात क्षेत्र के मशहूर कारीगर शब्बीर हुसैन इब्राहिम भाई शेख ने बगैर किसी मशीन का प्रयोग किये हाथ से बनाया है. मोदी ने आबे को मिर्जापुर के बुनकरों द्वारा हाथ से बुना हुयी खास दरियां भी दीं जिन पर नीले, लाल और पीले रंग का इस्तेमाल किया गया है. इसी के साथ मोदी ने उन्हें परंपरागत पच्चीकारी वाला लकड़ी का एक जोधपुरी संदूक भी भेंट किया.
जापान में दोनों नेताओं के बीच होने वाली शिखर बैठक वाले दिन एक संदेश में आबे ने कहा कि भारत एक वैश्विक शक्ति के तौर पर क्षेत्र एवं विश्व समृद्धि को प्रबल बना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने महान देश के एक उत्कृष्ट नेता हैं. मेरा हमेशा से मानना रहा है और मैंने कहा भी है कि जापान एवं भारत के बीच के संबंध विश्व में सबसे बड़ी संभावना से समृद्ध है. जापान और भारत का सहयोग सुरक्षा, निवेश, सूचना प्रौद्योगिकी, कृषि, स्वास्थ्य, पर्यावरण और पर्यटन जैसे कई क्षेत्रों में लगातार बढ़ रहा है.


आबे ने कहा कि हम सभी क्षेत्रों में अच्छी स्थिति में हैं और जापान भारत की आर्थिक वृद्धि और विश्व की अग्रणी तकनीकों का इस्तेमाल कर हाई-स्पीड रेल, भूमिगत मार्गों एवं अन्य अवसंरचनाओं के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेक-इन-इंडिया पहल को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है. आबे ने कहा कि जिस दिन सहयोग के माध्यम से जापानी शिंकनसेन बुलेट ट्रेनें मुंबई से अहमदाबाद के बीच दौड़ेंगी वह दिन भारत-जापान की भविष्य में दोस्ती का चमकता हुआ संकेत होगा. जापान के दौरे पर आए प्रधानमंत्री मोदी मेरे सबसे भरोसेमंद दोस्तों में से एक हैं. जापान सरकार की ओर से गर्मजोशी से उनका स्वागत करना मेरा सौभाग्य है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर मैं खुले एवं मुक्त हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के लिए जापान-भारत के सहयोग को मजबूत करना चाहूंगा.
प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को जापान के प्रधानमंत्री के साथ तोक्यो के पश्चिम में यामानशी के औद्योगिक रोबोट विनिर्माता कंपनी ‘फानुक’ के कारखाने का दौरा किया. यह दुनिया में औद्योगिक रोबोट की सबसे बड़ी कंपनी है. इससे पहले दिन में मोदी के होटल माउंट फूजी पहुंचने पर आबे ने उनका स्वागत किया. मोदी 13वें भारत- जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए यहां पहुंचने पर कहा कि आबे के साथ उनकी बैठक से दोनों देशों के दोस्ताना संबंधों को और मजबूती मिलेगी. सम्मेलन में आपसी रिश्तों में हुई प्रगति की समीक्षा की जाएगी और द्विपक्षीय संबंधों के रणनीतिक आयामों को और गहरा करने पर चर्चा होगी.
नयी दिल्ली से जापान यात्रा के लिए रवाना होने से पहले मोदी ने भारत और जापान को ‘आपसी लाभ वाला गठजोड़’ बताते हुए कहा था कि आर्थिक और प्रौद्योगिकी की दृष्टि से आधुनिकीकरण में भारत के लिए जापान सबसे भरोसेमंद भागीदार है. यह मोदी की आबे के साथ 12वीं बैठक है. प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी की आबे के साथ पहली बैठक सितंबर, 2014 में हुई थी. समझा जाता है कि शिखर बैठक के दौरान मोदी और आबे के बीच रक्षा और क्षेत्रीय सुरक्षा सहित विभिन्न मुद्दों पर बातचीत होगी और इस यात्रा से विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के संबंधों को मजबूती मिलेगी. मोदी तोक्यो में भारतीय समुदाय को संबोधित करने के साथ ही विभिन्न कारोबारी कार्यक्रमों तथा व्यापार मंच में भी हिस्सा लेंगे.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *