टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में आतिशी बल्लेबाजी करते हुए अपने करियर का 36वां वनडे शतक ठोक दिया. कोहली ने 140 रन बनाए और उन्होंने 107 गेंदों की पारी में 21 चौके और दो छक्के लगाए, जिसके लिए उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड दिया गया.
वेस्टइंडीज पर 8 विकेट से जीत के बाद कोहली ने बड़ा बयान दिया है. कोहली ने यह माना कि इस खेल का आनंद लेने के लिए अब उनके पास कुछ साल ही बचे हैं.
कोहली ने कहा कि ‘इस खेल का आनंद लेने के लिए मेरे करियर में कुछ साल ही बचे हैं. देश के लिए खेलना गर्व और एक बड़ा सम्मान है. आप किसी भी खेल को हल्के ढंग से लेने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं.’
कोहली ने कहा कि ‘आपको खेल के प्रति ईमानदार होना चाहिए और यही वह समय है जब खेल आपको वापस देता है. मैं ऐसा करने की कोशिश करता हूं. यह मेरी सोच है, क्योंकि आप भारत के लिए खेल रहे हैं और हर किसी को ऐसा करने का मौका नहीं मिलता.’
विराट कोहली ने माना कि रोहित शर्मा के पिच पर मौजूद होने से बल्लेबाजी और आसान हो जाती है. कोहली ने कहा, ‘यह जीत हमारे लिए शानदार रही. मैं समझता हूं कि वेस्टइंडीज ने भी बेहतरीन बल्लेबाज की और 320 से ऊपर का लक्ष्य हमेशा मुश्किल होता है, लेकिन हम जानते थे कि अगर एक अच्छी साझेदारी हुई तो हम मैच जीत जाएंगे.’
कोहली ने कहा, ‘दूसरे छोर पर रोहित हो तो बल्लेबाजी आसान हो जाती है. ऐसा बहुत कम होता है कि रोहित क्रीज पर मौजूद दूसरे बल्लेबाज से धीमी बल्लेबाजी करे. टॉप तीन बल्लेबाजों में से मुझे एंकर रोल निभाना पसंद है, लेकिन आज मैं अच्छा महसूस कर रहा था और मैंने रोहित से कहा कि वह एंकर रोल निभाए. मेरे पवेलियन लौटने के बाद उन्होंने तेज बल्लेबाजी की और अंबति रायडू ने एंकर रोल निभाया.’
आपको बता दें कि वेस्टइंडीज के खिलाफ इस मैच में कोहली और रोहित के बीच अच्छी जुलगबंदी देखने को मिली और दोनों ही बल्लेबाज अपने-अपने छोर से एक दूसरे की बल्लेबाजी का लुफ्त उठा रहे थे. हालांकि कुछ समय पहले दोनों के बीच अनबन की ख़बरें थी, लेकिन मैदान पर दोनों के बीच अच्छी दोस्ती नजर आई.

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *