श्री राम जन्म भूमि अयोध्या न्यास के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष डॉ रामविलास वेदांति महाराज ने अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण अगले साल आम चुनावों से पहले शुरू होने की उम्मीद जताते हुए कहा है कि दुनिया में शांति स्थापित करने के लिए हिन्दू और मुसलमानों को एक होना पड़ेगा।
‘मिशन मोदी अगेन पीएम’ अभियान के सिलसिले में यहां आए पूर्व सांसद वेदांति ने भाषा से कहा, ’इस्लाम को हिंदुओं से खतरा नहीं है इसीलिए विश्व के मुसलमान भारत के साथ समझौता करके, अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जल्द से जल्द चाहते हैं।’ वेदांति के अनुसार, यदि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसी तरह आगे बढ़ते रहे तो वह दिन दूर नहीं है जब अयोध्या में मंदिर बनना शुरू होगा।
उन्होंने इस मामले में आध्यात्मिक गुरू श्री श्रीरविशंकर की भूमिका को पूरी तरह से खारिज कर दिया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘श्री श्री रविशंकर कौन होते है समझौता करवाने वाले.. संघर्ष हमने किया, श्रीश्री कहां से आ गये।’ उन्होंने कहा ‘एनजीओ चलाने वाले इस मामले में कुछ नहीं कर सकते।’
वेदांति ने कहा कि शिया समुदाय ने लिखकर दे दिया है कि वह मस्जिद लखनऊ में बनाना चाहते हैं। इसके लिये हम तैयार हैं। मस्जिद या तो अयोध्या से 15 किलोमीटर दूर शाहनवा में बन सकती है और या फिर लखनऊ के शिया बहुल क्षेत्र में बन सकती है।

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *