आज़ादी की 72वीं सालिगरह के मौके पर लाल किले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तिरंगा फहराने के बाद अपने संबोधन में कहा कि यह बदलाव का वक्त है., हम मक्खन नहीं, पत्थर पर लकीर खींचने वाले हैं. 2013 की रफ्तार से चलते तो कई कामों में दशकों लग जाते. लाल किले पर तिरंगा फहराने से पहले PM ने राजघाट पर बापू को श्रद्धांजलि दी और ट्वीट किया- ”स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं! जय हिंद!”
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 82 मिनट के भाषण में चार साल का हिसाब देते हुए कहा कि हम आगे बढ़ रहे हैं, किस रफ्तार से बढ़ रहे हैं इसका पता तबतक नहीं चलता है जब तक हम कहां से चले थे उस पर नजर ना डाले. कहां से चले थे उस की ओर नहीं देखेंगे तो कहां और कितना गए हैं इसका अंदाज़ नहीं लगेगा. हमारा देश जिस रफ्तार से चल रहा था, जीवन के हर क्षेत्र में जो रफ्तार 2013 की थी. उसे आधार मानकर पिछले चार सालों में जो काम हुए हैं उन कामों पर सोचें, उनका लेखा-जोखा लें तो अचरज होगा कि देश की रफ्तार आज क्या है, गति क्या है, प्रगति कैसे हो रही है. अगर हम 2013 की गति से काम करते तो इन चार सालों में जो कुछ हुआ वो करने में दशकों का वक्त लग जाता. शौचालय, बिजली और गैस कनेक्शन जैसी आधारभूत सुविधाओं का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने देश के विकास का प्रमाण जनता को दिखाया.
उन्होंने कहा कि अगर 2013 की रफ्तार से चलते तो शत प्रतिशत शौचालय पहुंचाने में बरसों लग जाते. साथ ही गांव-गांव बिजली पहुंचाने में एक-दो दशक और लग जाते. उज्जवला योजना की चर्चा करते हुए PM ने कहा कि जिस रफ्तार से 2013 में गैस कनेक्शन दिया जा रहा था, अगर वही पुरानी रफ्तार होती तो देश के हर घर में सालों तक भी गैस कनेक्शन नहीं पहुंच पाता. जिस रफ्तार से 2013 में गांवों तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाने का काम चल रहा था, उस रफ्तार से देश के हर गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने में कई पीढ़ियां गुजर जातीं. सबकुछ पहले जैसा है, वही हवा है, वही आसमान है, वही दफ्तर है, वही अधिकारी हैं, सबकुछ पहले जैसा है, लेकिन सरकार के काम की रफ्तार बढ़ गई है. 4 साल में देश बदलाव महसूस कर रहा है. क्योंकि हमारी सरकार में फैसले लेने का सामर्थ्य है.


PM ने अपनी तमाम योजनाओं का उल्लेख करते हुए उनके लाभार्थियों का भी जिक्र किया. प्रधानमंत्री ने किसानों, महिलाओं और युवाओं के मुद्दे को भी उठाया. प्रधानमंत्री ने सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सेना की भी तारीफ की. उन्होंने कहा कि देश की अपेक्षाएं और आवश्यकताएं बहुत हैं, उसे पूरा करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार को निरंतर प्रयास करना है.”
PM ने मंगलयान और अंतरिक्ष क्षेत्र की अन्य उपलब्धियों का जिक्र और देश के वैज्ञानिकों की तारीफ करते हुए कहा कि ‘कौन इस बात पर आश्चर्य नहीं करेगा कि हमारे वैज्ञानिकों ने एक साथ सौ सेटेलाइट लॉन्च किए? यही नहीं आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर या उससे पहले ही मां भारती की कोई संतान (बेटा या बेटी) हाथ में तिरंगा लेकर अंतरिक्ष में जाएगा और तब हम अंतरिक्ष में मानव को पहुंचाने वाला विश्व का चौथा देश बन जाएंगे.
PM ने सशस्त्र बलों में महिलाओं को स्थायी कमीशन देने का एलान कर देश कि बहादुर बेटियों को खुशखबरी देते हुए कहा कि भारतीय सशक्त सेना में शॉर्ट सर्विस कमीशन के जरिए नियुक्त महिला अधिकारियों को पुरुष समकक्ष अधिकारियों की तरह पारदर्शी प्रक्रिया द्वारा स्थायी कमीशन देने की घोषणा करता हूं.
PM ने 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती से आयुष्मान योजना का एलान किया. उन्होंने कहा कि आयुष्मान योजना स्कीम में पहले 10 करोड़ गरीब परिवारों को शामिल किया जाएगा. इसके बाद उच्च मध्यम वर्ग और मध्यमवर्ग का भी लाभ मिलेगा. पांच लाख रुपए सालाना इलाज के खर्च की सुविधा हम देने वाले हैं. किसी भी व्यक्ति को यह सुविधा पाने में दिक्कत ना हो, इसलिए टेक्नोलॉजी की भूमिका महत्वपूर्ण है. टेस्टिंग शुरू हो रही है. योजना को फुलप्रूफ बनाने की कोशिश हो रही है.
PM ने तीन तलाक पर विपक्ष को निशाने पर लेते हुए कहा कि आज मैं लाल किले से मुस्लिम महिलाओं को भरोसा दिलाता हूं कि आपको न्याय दिलाने के लिए मैं कोई कसर नहीं छोड़ूंगा. हाँलाकि अभी भी कुछ लोग हैं जो इसे पारित नहीं होने देना चाहते.

PM ने कश्मीर के मुद्दे पर कहा कि हम गोली और गाली के रास्ते पर नहीं, कश्मीर के लोगों को गले लगाकर आगे बढ़ना चाहते हैं. जम्मू-कश्मीर के लिए अटल जी का आह्वान था- इंसानियत, कश्मीरियत, जम्हूरियत. मैंने भी कहा है, जम्मू- कश्मीर की हर समस्या का समाधान गले लगाकर ही किया जा सकता है. हमारी सरकार जम्मू-कश्मीर के सभी क्षेत्रों और सभी वर्गों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है. जम्मू कश्मीर में लोकतांत्रिक इकाइयों को और मजबूत करने के लिए लंबे समय से टल रहे पंचायत और निकाय चुनाव भी जल्द कराये जाने की तैयारी चल रही है.
PM ने ईमानदार करदाताओं की तारीफ की. उन्होंने कहा 2013 तक चार करोड़ लोग टैक्स भरते थे आज पौने सात करोड़ लोग टैक्स देते हैं. आज देश ईमानदारी का उत्सव मना रहा है. हमने भाई-भतीजावाद खत्म किया. तीन लाख संदिग्ध कंपनियों पर ताले लगे.
PMने कहा कि जो लोग पैदा नहीं हुए उनके नाम पर 6 करोड़ फर्जी लाभार्थी 90 हजार करोड़ की रकम ले जाते थे. ऐसे फर्जीवाड़े को पहचा गया और असली लाभार्थियों तक रकम पहुंचाने का काम किया गया है. स्वच्छता अभियान की चर्चा करते हुए कहा कि WHO की रिपोर्ट कहती है कि स्वच्छता अभियान से तीन लाख बच्चों की जान बची है, देश में गरीबों के बच्चे स्वच्छता के कारण ही बच सके. देश को आजादी मिली सत्याग्रहियों से और स्वच्छता स्वच्छाग्रहियों से मिलेगी.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *