रथयात्रा के उपलक्ष्य में राँची के जगन्नाथपुर मेला परिसर में झारखंड के कला, संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा आयोजित श्री जगन्नाथ महोत्सव में झारखंड और बाहर से आए हुए कई नामचीन कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों से दर्शकों व श्रोताओं का मन मोह लिया।
लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने गणेश वंदना- “मंगल के दाता रउआ, बिगड़ी बनाई जी” से अपने कार्यक्रम की शुरुआत करने के बाद “रांची शहर के नौकरिया जिया जर गईल हमार”, “हमारा आम अमरैया बड़ा नीक लागेला, सैया तोहरी मड़ईया बड़ा नीक लागेला”, “पिपरा के पतवा फुनगिया बोले रे ननदो, जिया डोले रे हमार छोटी ननदी”, “आग लागे सईंया जी तोहरे नौकरिया कि कैसे जावे ना, हम तो जगन्नाथपुर के मेलवा अब कैसे जईवे ना” सहित अनेक पारंपरिक भोजपुरी गीत और झूमर पेश करके लोगों को झुमा दिया। कार्यक्रम में उनके साथ हारमोनियम पर राकेश कुमार, तबला पर राजन कुमार, नाल पर उपेंद्र पाठक, पैड पर गोल्डी और बैंजो पर मुन्ना ने संगत दिया।


महोत्सव के पहले दिन बिहार की सांस्कृतिक संस्था- “संगीतम” के कलाकारों द्वारा अनेक प्रसिद्ध गीतों पर भोजपुरी नृत्य प्रस्तुत किया गया। साथ ही पश्चिम बंगाल की मधुश्री हथियाल द्वारा भी मनमोहक झूमर गीत पेश किए गए। रांची की संस्था “पाजेब” के दीपक सिन्हा और उनके कलाकारों ने भी शानदार गीत- नृत्य पेश किया। सुषमा नाग और उनके साथियों ने करसा नृत्य पेश कर खूब वाहवाही लूटी।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *