जम्मू-कश्मीर में इस साल जनवरी से जून तक सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 100 आतंकियों को मार गिराया। इस दौरान 43 जवान आतंकी घटनाओं में शहीद हुए। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने बुधवार को राज्यसभा में यह जानकारी दी। उनसे घाटी में हिंसा को लेकर सवाल पूछा गया था। अहीर ने बताया कि इस साल 6 महीने में कश्मीर में 256 आतंकी घटनाएं हुईं। इनमें 16 नागरिक भी मारे गए।
रमजान के बाद 17 जून को सरकार ने संघर्ष विराम खत्म करने का ऐलान किया था। ऑपरेशन ऑलआउट-2 में 19 जून को त्राल में जैश-ए-मोहम्मद के तीन बड़े आतंकी मारे गए थे। 22 जून को अनंतनाग में इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर (आईएसजेके) का सरगना दाऊद अहमद सोफी उर्फ बुरहान समेत चार आतंकी मारे गए। 29 जून को पुलवामा और कुपवाड़ा में दो आतंकी मारे गए। इससे पहले 26 अप्रैल को त्राल में जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर मुफ्ती यासिर समेत 4 आतंकी मारे गए।
पिछले साल 213 आतंकी मारे गए थे : सरकार की ओर से बताया गया कि 2017 में जम्मू-कश्मीर में 342 आतंकी घटनाएं सामने आई थीं। यहां सुरक्षाबलों से साथ मुठभेड़ में 213 आतंकी मारे गए थे। आतंक के खिलाफ लड़ाई में जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना के 80 जवान शहीद हुए। जबकि 40 आम नागरिक मारे गए। वहीं, 2016 में कुल 150 आतंकी ढेर हुए थे। 322 आतंकी घटनाओं में 15 नागरिकों की जान गई और 82 जवान शहीद हुए थे।

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *